कुत्तों की पूजा कर इस देश में मनाई जाती है अनोखी दिवाली, जानिए इसके पीछे की वजह

33
loading...

नई दिल्ली. दिवाली के समय देश रोशनी से जगमगा उठता है। दिवाली हिंदू धर्म का एक बड़ा त्योहार है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, इसी दिन भगवान राम 14 वर्षों का वनवास पुरा कर अयोध्या वापस लौटे थे। हर जगह इस दिन उत्साह का महौल होता है। बता दें कि इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है। वैसे तो दिवाली भारत समेत दुनिया के कई देशों में मनाई जाती है, लेकिन एक देश ऐसा भी है जहां दिवाली कुछ अलग ढंग से मनाई जाती है।

इसे भी पढ़िए :  वुशू संघ अध्यक्ष भूपेन्द्र बाजवा सम्मानित, गोल्ड मेडलिस्ट पूनम को भी एसएसबीडीजी ने किया सम्मानित

दरअसल, भारत के पड़ोसी देश नेपाल में दिवाली मनाई तो जाती है, लेकिन यहां लक्ष्मी-गणेश की नहीं बल्कि कुत्तों की पूजा की जाती है। नेपाल में दिवाली को तिहार कहा जाता है। यह बिल्कुल वैसे ही मनाई जाती है जैसे भारत में दिवाली मनाई जाती है। नेपाल में लोग इस दिन दीये जलाते हैं, नए कपड़े पहनते हैं, खुशियां बांटते हैं। लेकिन इसके अगले ही दिन एक और दिवाली मनाई जाती है। इस दिवाली को कुकुर तिहार कहा जाता है। कुकुर तिहार पर कुत्तों की पूजा की जाती है।

इसे भी पढ़िए :  महामारी के बावजूद Real Estate क्षेत्र के लिए बेहतर रहा साल 2020, जानिए कैसे

खास बात यह है कि यह दिवाली यहीं खत्म नहीं होती, बल्कि पांच दिन चलती है। इस दौरान लोग अलग-अलग जानवर जैसे गाय, कुत्ते, कौआ, बैल आदि की पूजा करते हैं। कुकुर तिहार पर कुत्तों को सम्मानित किया जाता है। उनकी पूजा की जाती है, फूलों की माला पहनाई जाती है और तिलक भी लगाया जाता है।

इसे भी पढ़िए :  आईआईटी बॉम्बे की टीम ने बनाया हवा से सूक्ष्म कण साफ करने वाला यंत्र

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − 1 =