ओवरलोडिंग के खिलाफ परिवहन विभाग की बड़ी तैयारी, हाइवे के टोल प्लाजा से मिलेगा Data, कटेगा इ-चालान

19
loading...

लखनऊ 12 नबंवर। उत्तर प्रदेश के नेशनल हाइवे और स्टेट हाइवे पर अब टोल प्लाजा पर माल वाहनों की ओवरलोडिंग भी चेक की जाएगी. यही नहीं मौके पर इ-चालान भी काटा जाएगा. दरअसल परिवहन विभाग यूपी के हाईवे पर टोल प्लाजा में लगे कांटे (वेइंग मशीन) के डेटा का इस्तेमाल करना जा रहा है. विभाग का मानना है कि इस कवायद से सड़क पर दुर्घटनाओं में कमी आएगी. वहीं ओवरलोडिंग से खराब होने वाली सड़कों की समस्या में भी कमी आएगी.

इसे भी पढ़िए :  यूपी में आज शाम से 48 घंटे का ड्राई डे, बेचते या खरीदते मिले शराब और बीयर तो होगी कड़ी कार्रवाई

प्रवर्तन दलों की संख्या कम होने की समस्या का निदान

दरअसल परिवहन विभाग इस व्यवस्था को तकनीक आधारित बनाने में जुटा है. कारण ये है कि विभाग के पास प्रवर्तन दलों की संख्या कम है, ऐसे में सघन रूप से जांच नहीं हो पा रही थी. यही कारण है कि अब तकनीक का सहारा लिया जा रहा है. बता दें यूपी में राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के 35 टोल प्लाजा हैं. इसके अलावा स्टेट हाइवे की बात करें तो इसके 5 और यूपी एक्सप्रेस वे विकास प्राधिकरण के 4 टोल प्लाजा पर वे-इन-मोशन ब्रिज लगे हुए हैं.

इसे भी पढ़िए :  किसानों और मजदूरों के दिग्गज नेता बिहारी सिंह बागी का निधन

एनएचएआई भेजेगा डेटा, परिवहन विभाग काटेगा इ-चालान

एनएचएआई परिवहन विभाग को माल वाहनों का डेटा ऑनलाइन भेजेगा, इस पर वाहन में स्वीकृत वजन से अधिक वजन पाया गया तो इ-चालान वाहन स्वामी को भेज दिया जाएगा. इस संबंध में उत्तर प्रदेश शासन की तरफ से प्रदेश के सभी डीएम को निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं. ओवरलोडिंग के कारण चालान होने पर 20 हजार रुपए और हर टन पर 2 हजार रुपए का अतिरिक्त जुर्माना देना होगा.

इसे भी पढ़िए :  चेहरे के दाग-धब्बे छुपाने के लिए कंसीलर है बेस्ट, जानें कैसे करें इसका सही इस्तेमाल

परिवहन विभाग के अनुसार एनएचएआई के पूर्व और पश्चिमी महाप्रबंधकों के साथ ही सभी परियोजना निदेशकों को इस संबंध में निर्देश भेज दिए गए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 7 =