पीएम की रचनात्मक सोच और सूचना मंत्री के निर्णय का सोशल मीडिया एसोसिएशन ने किया स्वागत न्यूज वेबसाइटों को मिलेंगे विज्ञापन, उनसे जुड़े लोगों को प्राप्त होंगी सुविधाएं

15
loading...

केंद्र सरकार द्वारा डिजिटल मीडिया वेबसाइटों को इलैक्ट्राॅनिक्स चैनलों और प्रिंट मीडिया के समान विज्ञापन देने और उनसे जुड़े लोगों को सुविधाएं उपलब्ध कराने के संदर्भ में निर्णय लेते हुए कुछ नियम भी इनके लिए निर्धारित किए गए हैं। सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए के राष्ट्रीय महामंत्री श्री अंकित बिश्नोई द्वारा इसके लिए केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर को धन्यवाद करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का आभार व्यक्त किया गया है।
बताते चलें कि पिछले कई वर्ष से सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि कुमार बिश्नोई व अंकित बिश्नोई द्वारा सूचना प्रसारण मंत्रालय के अधिकारियों व सरकार से मेल और पत्र भेजकर यह जानकारी हासिल करने का प्रयास किया गया कि अगर कोई नियम डिजिटल मीडिया और न्यूज वेबसाइटों के लिए बनाया गया है तो लिखित में अवगत करा दें जिससे हम अपने सदस्यों को उससे अवगत कराकर उन्हें उसका पालन कराने हेतु तैयार कर सके। इसी के साथ ही इलैक्ट्राॅनिक्स और प्रिंट मीडिया की भांति न्यूज वेबसाइटों को विज्ञापन इन वेबसाइटों से जुड़े लोगों को सुविधा अन्यों की भांति देने की मांग एसएमए द्वारा की जाती रही है।
बताते चलें कि इस संदर्भ में बीते दिवस केंद्र सरकार ने डिजिटल मीडिया को मान्यता देते हुए उसके नियमन की राह खोल दी। अब न्यूज वेबसाइट भी सरकारी विज्ञापन ले सकेंगी। सरकार ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तर्ज पर डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म को खबरों में अनुशासन के लिए स्व-नियमन संस्था बनाने की अनुमति दे दी है। साथ ही डिजिटल न्यूज मीडिया में 26 फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का तरीका स्पष्ट कर दिया है।
इससे डिजिटल मीडिया को भी प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक जैसी सुविधाएं मिलेगी
केंद्रीय सूचना व प्रसारण मंत्रालय ने कहा कि 18 सितंबर, 2019 में केंद्र की तरफ से डिजिटल न्यूज मीडिया को 26 फीसदी एफडीआई की इजाजत दी गई थी। इसको ध्यान में रखकर डिजिटल प्लेटफार्मों को प्रिंट व इलेक्ट्राॅनिक मीडिया को मिलने वाली सुविधाएं देने का फैसला हुआ है। इसके तहत डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म भी सरकारी विज्ञापन ले सकेंगे। उनके कर्मचारियों को पीआईबी मान्यता मिलेगी। न्यूज वेबसाइट के कर्मचारी भी प्रिंट व इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के कर्मचारियों को मिलने वाली सरकारी सुविधाएं ले सकेंगे।
मंत्रालय ने कहा कि प्रिंट और इलेक्ट्राॅनिक मीडिया की तरह ही डिजिटल मीडिया भी स्व-नियमन संस्थान गठित कर पाएगा, ताकि भविष्य में सरकार के सामने उनका आधिकारिक पक्ष पेश किया जा सके।
अधिकतम 26 फीसदी एफडीआई की इजाजत
केंद्र सरकार ने डिजिटल न्यूज मीडिया में एफडीआई की अपनी नीति को भी स्पष्ट कर दिया। केंद्रीय उद्योग व आंतरिक व्यापार विकास विभाग के निदेशक (एफडीआई) निखिल कुमार कनोडिया की तरफ से जारी स्पष्टीकरण में कहा गया है कि किसी भी डिजिटल न्यूज प्लेटफार्म को अधिकतम 26 फीसदी एफडीआई लेने की ही अनुमति मिलेगी और इन प्लेटफार्म की कंपनियों भारत में ही पंजीकृत होनी चाहिए।
पहले से संचालित न्यूज एग्रीगेटर्स, डिजिटल मीडिया कंपनियों को जानकारी सप्लाई करने वाली न्यूज एजेंसियां और सभी तरह की खबरें या ताजा समाचार वेबसाइट पर अपलोड करने वाली कंपनियों को भी 26 फीसदी एफडीआई के दायरे का पालन करना होगा। इन कंपनियों को अपने पास मौजूद एफडीआई को 26 फीसदी के स्तर पर लाकर एक साल के अंदर केंद्र सरकार से मंजूरी लेनी होगी। एफडीआई नियमों के पालन की जिम्मेदारी निवेश करने वाली कंपनी की होगी।
एफडीआई के लिए यह भी अनिवार्य
इसके अलावा कंपनी के बोर्ड में अधिकतर निदेशक और उसका सीईओ भारतीय नागरिक होना चाहिए। कंपनी को ऐसे सभी विदेशी कर्मचारियों के लिए सरकार से सुरक्षा अनुमति लेनी होगी, जिन्हें साल में 60 दिन से ज्यादा के लिए अपने साथ जोड़ा गया है। यह नियम सलाहकार, अनुबंधित, नियुक्ति या अन्य किसी भी तरह के जुड़ाव के लिए लागू होगा।
सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए के अतिरिक्त आईमा न्यूज के चेैयरमेन श्री महेश शर्मा आदि ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुए इसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की रचनात्मक सोच का परिणाम बताया है। सोशल मीडिया एसोसिएशन एसएमए के महामंत्री श्री अंकित बिश्नोई के इस कथन से मैं भी सहमत हूं कि एसएमए का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र केंद्रीय सूचना प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर से मुलाकात कर उनका आभार जताने के साथ ही इस संदर्भ में लिए गए निर्णयों को तुरंत लागू करने और सभी न्यूज वेबसाइटों से एक समान व्यवहार करने पर चर्चा करेगा।

इसे भी पढ़िए :  क्या वाकई पुतले फूंककर हमने बुराई पर अच्छाई की विजय प्राप्त कर ली है

– रवि कुमार विश्नोई
सम्पादक – दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
अध्यक्ष – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन
आईना, सोशल मीडिया एसोसिएशन (एसएमए)
MD – www.tazzakhabar.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − two =