कुट्टू का आटा खाने से 40 लोगों की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

257
loading...

रुड़की 18 अक्टूबर। उत्तराखंड के रुड़की और आसपास के क्षेत्रों में कुट्टू का आटा खाने से शनिवार देर रात 40 से ज्यादा लोगों की तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में रात करीब एक बजे सभी अस्पताल पहुंचे।  शहर के कई अस्पतालों में भर्ती मरीज रुड़की के ढंडेरा और भगवानपुर क्षेत्र के हैं। इनमें 20 से ज्यादा महिलाएं हैं। जांच के बाद कई लोगों को सुबह अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। वहीं, 20 से अधिक लोग अभी भी भर्ती हैं जिनकी हालत स्थिर बनी हुई है। अस्पताल में भर्ती लोगों ने इलाज में हीलाहवाली का आरोप लगाते हुए हंगामा भी किया।
सूचना मिलने के बाद प्रशासन मामले की जांच में जुट गया है। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नमामि बंसल ने अस्पताल पहुंचकर मामले की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में भर्ती लोगों ने कहां से इस आटे को खरीदा था इसकी पूछताछ की जा रही है। जानकारी जुटाने के बाद मामले में कार्रवाई की जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  तीन दिनों के लिए खुला सस्पेंशन ब्रिज, भारतीय पेंशन पाने वाले नेपाली नागरिकों की उमड़ी भीड़

त्योहारी सीजन को भुनाने में जुटे मिलावटखोर
रुड़की व आसपास के कुछ मिलावटखोर त्योहारी सीजन को भुनाने में जुट गए हैं। इसके लिए कुछ लोगों द्वारा वेस्ट यूपी के जिलों के लोगों से संपर्क साधा जा रहा है ताकि त्योहारी सीजन में मिलावटी मावा व रसगुल्ला आदि मंगाकर चांदी कूटी जा सके। वहीं दूसरी ओर खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा भी जल्द ही मिलावटीखोरी के खिलाफ अभियान चलाए जाने की तैयारी की जा रही है।

इसे भी पढ़िए :  अदालतें सैरगाह नहीं कि जब मर्जी चले आए : सुप्रीम कोर्ट

पुरकाजी, बिजनौर और सहारनपुर से प्रदेश में आने वाले मिलावटी मावे व मिठाई को लेकर अक्सर मामले सामने आते रहते हैं। खाद्य सुरक्षा विभाग भी इस तरह के कई बार सैंपल लेकर जांच को भेज चुका है, जो जांच में फेल हुए हैं। इससे ज्ञात होता है कि समय-समय पर वेस्ट यूपी से मावा, दूध व रसगुल्ला आता रहता है। बताया जा रहा है कि त्योहारी सीजन जल्द ही शुरू होने वाला है।

इसे भी पढ़िए :  पटाखों के गोदाम में भीषण धमाका, तीन की मौत, 8 घायल

सुशील कुमार, प्रदीप कुमार, सत्यपाल व दीपक कुमार आदि का कहना है कि पुलिस द्वारा बॉर्डर पर चेकिंग बढ़ाई जानी चाहिए ताकि इस तरह की मिलावटीखोरी रोकी जा सके। इस बाबत खाद्य सुरक्षा अधिकारी संतोष कुमार ने बताया कि जल्द ही अभियान शुरू कर दिया जाएगा ताकि मिलावटीखोरी रोकी जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 2 =