कोरोना संक्रमित महिला ने दिया एक साथ चार बच्‍चों को जन्‍म, तीन की हालत स्थिर, एक वेंटिलेटर पर

304
loading...

गोरखपुर 24 सितंबर। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित 26 वर्षीय महिला ने एक साथ चार बच्चों को जन्म दिया है। प्रसूता और तीन नवजातों की हालत ठीक है जबकि एक नवजात वेंटिलेंटर पर है। कोरोना संक्रमित प्रसूता द्वारा चार बच्चों को जन्म देने का यह प्रदेश में अपनी तरह का पहला मामला है। डॉक्टरों ने एहतियात के तौर पर कोरोना जांच के ल‌िए नवजातों का नमूना माइक्रोबायोलॉजी विभाग में भेजा है। सफल ऑपरेशन में गायनी, एनेस्थीसिया और बालरोग विभाग के डॉक्टरों का विशेष योगदान रहा है।

इसे भी पढ़िए :  हर खरीदारी पर बिल हो जाएगा "आधा", मार्केट में आई नई धमाकेदार एप

प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि देवरिया के गौरी बाजार की रहने वाली 26 वर्षीय प्रसूता सोमवार की देर रात 11.30 बजे के करीब बीआरडी के ट्रॉमा सेंटर में इलाज के लिए पहुंची। ड्यूटी पर तैनात महिला डॉक्टर ने प्रारंभिक जांच की। मामला सिजेरियन का लगा। सिजेरियन से पहले डॉक्टरों ने एंटीजन किट से जांच की तो रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई।

तत्काल प्रसूता को पीएमएसएसवाई चिकित्सालय में शिफ्ट कर दिया गया। इसके बाद आधुनिक माड्यूलर ओटी में गायनी और एनेस्थीसिया के डॉक्टरों की टीम ने सिजेरियन प्रसव कराया। एक साथ चार बच्चों के जन्म के बाद तत्काल बाल रोग विभाग की टीम को बुलाया गया और बच्चों के सेहत की जांच कराई गई। चारों बच्चों का वजन एक से डेढ़ किलोग्राम तक है। बाल रोग विभाग और गायनी विभाग की टीम के देखरेख में कोविड मानकों का ध्यान रखते हुए तीन नवजात स्तनपान कर रहे हैं। लेकिन एक नवजात की हालत बिगड़ी है। उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। डॉक्टरों के मुताबिक यह प्रसव प्री-मैच्योर है। इसकी वजह से बच्चों का वजन 980 ग्राम से लेकर 1.5 किलोग्राम तक है। ऐसी स्थिति में बच्चों की विशेष देखभाल की आवश्यकता है।

इसे भी पढ़िए :  धीरे-धीरे आपकी किडनी-लिवर खराब कर रही हैं ये 8 चीजें, जल्द बना लें दूरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × two =