सीएम योगी ने किसानों को किया आश्वस्त, नए सत्र से पहले हो जाएगा गन्ना भुगतान

42
loading...

मुजफ्फरनगर 24 सितंबर। मुजफ्फरनगर में भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधि मंडल ने राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के नेतृत्व में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लखनऊ में उनके कालिदास मार्ग स्थित आवास पर मुलाकात की। मुख्यमंत्री से हुई वार्ता के दौरान बकाया गन्ना भुगतान, गन्ने का मूल्य बढ़ाए जाने और भूमि अधिग्रहण के मुद्दे शामिल रहे।

मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि नए सत्र की शुरूआत से पहले किसानों का गन्ना भुगतान करा दिया जाएगा। परियोजनाओं के निर्माण में अधिग्रहीत की गई जमीन पर कब्जा लेने के लिए फसल काटने के लिए किसानों को पर्याप्त समय दिया जाएगा। उधर, भाकियू नेेता राकेश टिकैत ने कहा कि कृषि बिलों के विरोध में 25 सितंबर को चक्काजाम किया जाएगा।
गत दिवस भाकियू प्रतिनिधिमंडल ने सीएम से कहा कि आज प्रदेश का किसान नकदी के भारी संकट से जूझ रहा है। गन्ना किसान का भुगतान नहीं होने के कारण किसानों के सामने काफी समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। पिछले दो वर्षों से गन्ना मूल्य न बढ़ने के कारण उत्पादन लागत में वृद्धि हुई है, जिसके चलते गन्ना किसानों को घाटा हो रहा है।

इसे भी पढ़िए :  भारत सरकार ने वीजा पर रोक हटाई, पर्यटकों को छोड़ सभी को आने की होगी छूट

गन्ने का मूल्य 450 रुपये प्रति क्विंटल किया जाए। यूपी गन्ना आपूर्ति और खरीद का विनियमन अधिनियम, 1953 की धारा 17 (3) के संदर्भ में ब्याज माफ करने का अधिकार गन्ना आयुक्त में निहित है। इस नियम को समाप्त किया जाए।

इसे भी पढ़िए :  एडिटर्स गिल्ड के चुनाव संपन्न, सीमा मुस्तफा अध्यक्ष और संजय कपूर महासचिव व अनंतनाथ ट्रेजरार चुने गये

बिजली विभाग की गलती के कारण हजारों ग्रामीण उपभोक्ता बिल संशोधन को चक्कर लगाते रहते हैं। गलत बिल भेजने वालों पर कार्यवाही की जाए। प्रदेश में पिछले तीन वर्षों में निजी नलकूप एवं ग्रामीण क्षेत्रों के बिजली बिलों में भारी वृद्धि हुई है, जिसे कम किया जाना आवश्यक है।

किसान सम्मान निधि का लाभ प्रदेश के सभी किसानों को नहीं मिल पा रहा है। केंद्र सरकार द्वारा संसद में पास किए गए तीन कृषि विधेयकों के साथ-साथ न्यूनतम समर्थन मूल्य को भी कानून बनाया जाए। भूमि अधिग्रहण अवार्ड में कानून के विरुद्ध बिना फसल का मुआवजा दिए मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, मिर्जापुर, सहारनपुर, शामली में किसानों की तैयार फसलों को नष्ट कर दी गई है। ऐसा करने वालो जिम्मेदार व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाए। किसानों को नष्ट की गई फसलों का मुआवजा दिलाया जाए।

इसे भी पढ़िए :  छात्रा ने चावल के 4042 दानों पर लिखी भगवद् गीता, 150 घंटों में बगैर मैग्निफाइंग ग्लास 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसानों को आश्वस्त किया कि गन्ना भुगतान नए सत्र के संचालन से पहले करा दिया जाएगा। भूमि अधिग्रहण में फसल काटने का अवसर दिया जाएगा। अन्य सभी जायज मांग पूरी कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight − five =