अतीक अहमद का 5 मंजिला कोल्ड स्टोरेज बुलडोजर-जेसीबी से नहीं बारूद से होगा जमींदोज  

60
loading...

प्रयागराज 22 सितंबर। अहमदाबाद जेल में बंद माफिया अतीक अहमद की अवैध और बेनामी सम्पत्तियों को पिछले कई हफ्तों से प्रयागराज प्रशासन बुलडोजर और जेसीबी से गिरा रहा है. अब तक अतीक अहदम की 11 भवनों पर सरकारी बुलडोजर चल चुका है, जबकि दस संपत्तियों की जब्ती की गई है. प्रशासन की यह कार्रवाई फिलहाल यहीं नहीं रुकने जा रही. अब बाहुबली पूर्व सांसद के कोल्ड स्टोरेज समेत कुछ बिल्डिंग्स को बारूद से उड़ाने की तैयारी की जा रही है. डायनामाइट के इस्तेमाल से अतीक की करोड़ों की बेशकीमती इमारत को जमींदोज करने का पूरा का खाका प्रशासन ने तैयार कर लिया है.

इसे भी पढ़िए :  आबकारी विभाग ने जिमखाना क्लब का लाइसेंस सस्पेंड़ किया

इस काम में कोई जनहानि न हो और आस-पास की दूसरी इमारतों को कोई नुकसान न पहुंचे, इसके लिए बाहर से आई एक्सपर्ट टीम ने स्थल का मुआयना किया. इस एक्सपर्ट टीम की निगरानी में ही बारूद से अतीक की संपत्तियों को ढहाने का काम पूरा किया जाएगा. शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर अंदावा इलाके में अतीक अहमद की चार बीघा जमीन है. यहां उसने कोल्ड स्टोरेज बनवा रखा है. जिस जमीन पर कोल्ड स्टोरेज बना है वह अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन के नाम पर है. माफिया घोषित किये जाने के बाद सरकारी अमले ने अतीक के खिलाफ जब गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू की तो इस जमीन की भी पड़ताल की गई. जांच में साफ हुआ कि जमीन अतीक की पत्नी के नाम जरूर है, लेकिन कोल्ड स्टोरेज निर्माण के लिए प्रयागराज विकास प्राधिकरण से कोई मंजूरी नहीं ली गई थी.

इसे भी पढ़िए :  बाहुबली अतीक के शार्प शूटर की अवैध बिल्डिंग पर पीडीए का चला बुल्डोजर

डीएम ने बिना नक्शे के बने इस कोल्ड स्टोरेज को दो हफ्ते पहले अवैध निर्माण घोषित कर ध्वस्तीकरण के आदेश जारी किए. तीन दिन पहले बुलडोजर और जेसीबी लगाकर इसके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू की गई, लेकिन दो दिनों में जब 10 फीसदी हिस्सा भी नहीं गिर पाया तो प्रयागराज प्रशासन ने इसे बारूद से जमींदोज करने का निर्णय लिया. इसके तहत कोल्ड स्टोरेज की इमारत को डायनामाइट लगाकर ढहाया जाएगा. प्रयागराज प्रशासन ने इसके लिए महाराष्ट्र की एक्सपर्ट टीम से संपर्क किया गया है, जिन्होंने कुछ दिनों पहले नीरव मोदी की अलीबाग स्थित एक इमारत को इसी तकनीक से जमींदोज किया था. प्रयागराज विकास प्राधिकरण के जोनल आफिसर आलोक पांडेय के मुताबिक यूपी में यह शायद पहला मौका होगा जब किसी माफिया की अवैध संपत्ति को बारूद का इस्तेमाल कर ढहाया जाएगा.

इसे भी पढ़िए :  बड़ी खबर! सरकार ने वीजा पर हटाई रोक, पर्यटकों को छोड़ सभी विदेशी नागरिकों को भारत आने की छूट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 3 =