गाजियाबाद में इंडस्ट्रियल एरिया से बाहर चल रहीं 3300 फैक्ट्रियां होंगी बंद

55
loading...

गाजियाबाद 22 सितंबर। गाजियाबाद जिले में इंडस्ट्रियल एरिया से बाहर चलाई जा रहीं 11 हजार फैक्ट्रियों की लिस्ट तैयार कर ली गई है. कोविड-19 पीरियड से पहले नगर निगम, उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास निगम (यूपीएसआईडीसी) और डिस्ट्रिक्ट इंडस्ट्रीज सेंटर्स (डीआईसी) की संयुक्त टीम ने संयुक्त निरीक्षण कर यह रिपोर्ट बनाई है. पहले इन सभी फैक्ट्रियों के खिलाफ कार्रवाई होनी थी, लेकिन कोरोना और लॉकडाउन में छोटे-बड़े उद्योगों की खराब हुई हालत को देखते हुए तय किया गया है कि अब केवल प्रदूषण फैलाने वाली फैक्ट्रियों को ही बंद किया जाएगा.

इसे भी पढ़िए :  DDLJ के 25 साल पूरे, लंदन में लगेंगे शाहरुख खान और काजोल के स्टैचू

डीआईसी के डिप्टी कमिश्नर वीरेंद्र कुमार ने बताया कि करीब 3300 ऐसी फैक्ट्रियां हैं, जिनके खिलाफ कार्रवाई होनी है.
इनकी लिस्ट बनाकर यूपीपीसीबी को सौंपा जाएगा. पिछले महीने यूपीपीसीबी और जिला प्रशासन ने बिजली विभाग को ऐसी फैक्ट्रियों के बिजली कनेक्शन काटने के आदेश जारी किए थे जो इंडस्ट्रियल जोन से बाहर संचालित हो रही हैं. यूपीपीसीबी ने प्रदूषण फैलाने वाली सभी इकाइयों से पिछले एक महीने में 4 लाख रुपये से ज्यादा जुर्माना वसूला है. इनमें सरकारी और गैर सरकारी दोनों शामिल हैं. ये सभी इकाइयां प्रदूषण फैलाने के लिए जिम्मेदार मानी गईं हैं.

इसे भी पढ़िए :   बिहार के सीनियर IPS विनोद कुमार की कोरोना से मौत, पूर्णिया रेंज के थे आईजी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 − one =