पहली बार वर्चुअल माध्यम से मिलेगा खेल पुरस्कार

17
loading...

नई दिल्ली। दिग्गज हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती को खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। 29 अगस्त को ही राष्ट्रीय खेल पुरस्कार भी दिए जाते हैं। कोरोना के कारण इस बार राष्ट्रीय खेल पुरस्कार वर्चुअल तरीके से दिए जाएंगे। ऐसा पहली बार होगा, जब खेल दिवस के मौके पर राष्ट्रपति भवन में अवॉर्ड सेरेमनी नहीं होगी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इस साल अलग-अलग सात वर्गों में 74 खिलाड़ियों और कोच को पुरस्कार देंगे। इस साल पहली बार एक साथ पांच खिलाड़ियों को खेल रत्न मिलेगा।

इसे भी पढ़िए :  कृषि बिल के खिलाफ आज से कांग्रेस का देश भर में प्रदर्शन, पंजाब में नाराज किसान संगठन 3 दिन रोकेंगे रेल 

आज आयोजित कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे और पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ी अपने अपने शहर के स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सेंटर से जुड़ेंगे। खेल मंत्री किरण रिजिजू और कुछ और महत्वपूर्ण मेहमान विज्ञान भवन से इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे।

इसे भी पढ़िए :  अब देश में 53.5 करोड़ पशुओं को मिलेगा 12 अंकों का आधार कार्ड 

पीएम मोदी ने मेजर ध्यानचंद को दी श्रद्धांजलि
राष्ट्रीय खेल दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेजर ध्यानचंद को ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी। पीएम ने ट्वीट किया, ‘आज राष्ट्रीय खेल दिवस पर, हम मेजर ध्यानचंद को श्रद्धांजलि देते हैं, जिनकी हॉकी स्टिक के साथ जादू को कभी नहीं भुलाया जा सकता। आज हमारे प्रतिभाशाली एथलीटों की सफलता के लिए परिवारों, कोचों और सहयोगी कर्मचारियों द्वारा दिए गए उत्कृष्ट समर्थन की सराहना करने का भी दिन है।’

इसे भी पढ़िए :  केडीए और नगर निगम मिलकर बनाएंगे 9 तालाबों को पिकनिक स्पॉट, एक करोड़ की लागत से होगा सुंदरीकरण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 15 =