रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लॉन्च किया ‘आत्मनिर्भरता सप्ताह’

8
loading...

नई दिल्ली, 14 अगस्त। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ‘आत्मनिर्भरता सप्ताह’ को लॉन्च किया है। रक्षा मंत्री के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी इस सत्र के दौरान मौजूद रहे। राजनाथ सिंह ने गत दिवस कहा था कि भारत अपने सैन्य उपकरणों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विदेशी सरकारों और विदेशी आपूर्तिकर्ताओं पर निर्भर नहीं रह सकता और रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता अन्य क्षेत्र से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। सिंह ने यह बात सार्वजनिक क्षेत्र के कई रक्षा उपक्रमों और आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा लाए गए कई नए उत्पादों को लांच करते हुए कही थी।

इसे भी पढ़िए :  13 साल की रेप पीड़िता हुई गर्भवती, जेल में बंद आरोपी पर लगा NSA

उन्होंने कहा था कि किसी भी राष्ट्र के विकास के लिए सुरक्षा पहली प्राथमिकता है। यह हम सभी जानते हैं कि जो राष्ट्र अपनी रक्षा करने में सक्षम हैं, वे वैश्विक स्तर पर अपनी मजबूत छवि बनाने में सफल रहे हैं। उन्होंने कहा था कि हम अपनी रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए विदेशी सरकारों, विदेशी आपूर्तिकर्ताओं और विदेशी रक्षा उत्पादों पर निर्भर नहीं हो सकते हैं। यह मजबूत और आत्मनिर्भर भारत के उद्देश्यों और भावनाओं के अनुकूल नहीं है। रक्षा मंत्री ने इस दौरान नाग मिसाइल वाहक की प्रतिकृति, 8.6×70 एमएम स्नाइपर राइफल की प्रतिकृति, पानी में रिमोट से संचालित वाहन का अनावरण किया था।

इसे भी पढ़िए :  आजम खां के पुत्र अब्दुल्ला छह वर्ष तक नहीं लड़ सकेंगे चुनाव, राष्ट्रपति को विधानसभा सचिवालय ने लिखा पत्र

वहीं, राजनाथ सिंग ने रक्षा क्षेत्र में ‘आत्मनिर्भर’ होने की दिशा में 101 तरह के हथियार, तोप, एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर, राइफल और समुद्री-जहाज के आयात पर रोक लगाए जाने की बात स्वीकारते हुए कहा था कि ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’ का विजन, इस महामारी के कठिन समय में, न केवल आर्थिक वृद्धी के लिहाज से महत्वपूर्ण है, बल्कि उससे कहीं अधिक हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाने का एक विजन है। राजनाथ सिंह ने कहा था कि अगह हम भारत में चीजों (हथियार) के निर्माण में सक्षम हो गए तो देश की काफी पूंजी बचेगी। इस बची हुई पूंजी से रक्षा से जुड़े देश के लगभग 70000 एमएसएमई को प्रोत्साहित किया जा सकेगा।

इसे भी पढ़िए :  बसपा सुप्रीमो मायावती ने किया मंडलीय मुख्य सेक्टर प्रभारियों में भारी फेरबदल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × two =