चीनी ऐप्स के बाद अब चीनी नागरिकों के लिए बुरी खबर, दिल्ली में एंट्री बनेगी प्रॉब्लम

181
loading...

नई दिल्ली: चीन के खिलाफ चल रही सरकार की मुहिम में कारोबारी भी सामने आ रहे हैं. हाल में केंद्र सरकार द्वारा 59 चीनी Apps को बंद करने के बाद Delhi में विरोध बढ़ गया है. इसी क्रम में Delhi Taxi Tourist Transporters Association ने मंगलवार को एक निर्णय के तहत चीन के नागरिकों के लिए अपनी सेवा बंद कर दी है. यानी अब इस एसोसिएशन के अंदर आने वाली सभी टैक्सियों में चीन के नागरिकों को बैठने की इजाजत नहीं होगी. दिल्ली टैक्सी टूरिस्ट ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन के अंदर 400 टैक्सी कंपनियां और लगभग 50,000 टैक्सियां आती हैं.

इसे भी पढ़िए :  बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने मीडिया कंपनी के 14 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति की जब्त 

Delhi Taxi Tourist Transporters Association के अध्यक्ष संजय सम्राट ने बताया, हमारे सैनिकों के साथ जो व्यवहार किया गया है, उसके बाद हमने यह फैसला लिया है कि हम किसी भी चीन के नागरिक को अपनी टैक्सी की सेवा नही देंगे. हम केंद्र सरकार से यह गुजारिश करते हैं कि चीन के सभी सामानों का देश में बहिष्कार किया जाए.

इसे भी पढ़िए :  GST को लागू हुए तीन साल पूरे, जानिए देश के सबसे बड़े टैक्स रिफॉर्म की रोचक बातें

इससे पहले दिल्ली होटल रेस्टोरेंट एंड ओनर्स एसोसिएशन ने भी यह फैसला लिया था कि दिल्ली के होटल और गेस्ट हाउस में अब किसी भी चीनी व्यक्ति को ठहराया नहीं जाएगा. दिल्ली में लगभग 3,000 बजट होटल और गेस्ट हाउस हैं, जिनमें लगभग 75 हजार कमरे हैं.

इसे भी पढ़िए :  नीतीश कुमार वर्चुअल रैली से 7 अगस्त को अपने चुनाव प्रचार का करेंगे आगाज

हालांकि देश में चीन के खिलाफ गुस्सा देख कल भारत सरकार ने TikTok, UC Browser समेत 59 चीनी ऐप पर बैन लगा दिया है. इनमें  Helo, We Chat, UC News जैसे प्रमुख ऐप भी शामिल हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 3 =