तीन महीने बाद मैदान पर लौटे भारतीय क्रिकेटर्स

20
loading...

नई दिल्ली 23 जून। कोरोना वायरस के कारण लंबे समय तक घर के कैद रहने के बाद भारतीय टेस्ट टीम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और कप्तान जयदेव उनादकट के साथ रणजी चैंपियन सौराष्ट्र के खिलाड़ियों ने तीन महीने के बाद नेट पर वापसी की. मार्च में रणजी ट्रॉफी का खिताब जीतने के बाद पहली बार टीम के खिलाड़ियों ने नेट अभ्यास सत्र में भाग लिया.

पुजारा तेज गेंदबाज उनादकट, बल्लेबाज अर्पित वसावडा और मध्यम गति के गेंदबाज प्रेरक मांकड़ के साथ राजकोट के बाहरी इलाके में स्थित अपनी अकादमी में अभ्यास कर रहे हैं. देश के बड़े शहरों की तुलना में राजकोट में कोविड-19 महामारी का असर कम है. यहां अब तब इस बीमारी के 185 मामले आए है.
बंगाल के खिलाफ खेले गये रणजी ट्रॉफी के फाइनल में मैन ऑफ द मैच रहे वसावडा ने कहा कि हम लगभग 10 दिनों से अभ्यास कर रहे हैं. हम हालांकि लॉकडाउन के दौरान अपनी फिटनेस पर काम कर रहे थे, लेकिन नेट पर अभ्यास का कोई विकल्प नहीं है. यह बहुत अच्छा लगता है. हम अभ्यास करते समय सभी दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं.

इसे भी पढ़िए :  प्रदेश भर में आज रोपे जाएंगे 25 करोड़ पौधे, सीएम योगी ने किया अभियान का शुभारंभ

पेशेवर क्रिकेटरों को मैच फिटनेस हासिल करने के लिए चार से छह सप्ताह की आवश्यकता होगी, लेकिन गेंदबाजों के लिए यह अधिक मुश्किल होगा, क्योंकि लंबे ब्रेक के बाद उनके चोटिल होने का खतरा अधिक होगा. वहीं उनादकट गेंद पर लार के इस्तेमाल के बिना गेंदबाजी (आईसीसी ने हाल ही में लार के इस्तेमाल को प्रतिबंधित कर दिया है) कर रहे है.
पुजारा की अगली बड़ी परीक्षा दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हो सकती है. उन्होंने सोमवार को सोशल मीडिया में अपना फोटो साझा किया, जिसमे वह अभ्यास करते दिख रहे है. उन्होंने इंस्टाग्राम पर लिखा कि वापसी कर रहा हूं. पहले लग रहा था कि काफी लंबा समय हो गया, लेकिन जैसे ही बल्लेबाजी अभ्यास के लिए तैयार हुआ, लगा जैसे कल की ही बात हो.

इसे भी पढ़िए :  बैंक धोखाधड़ी : ईडी ने मीडिया कंपनी के 14 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति की जब्त 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten − nine =