क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी अब इस क्षेत्र में अपना हाथ आजमाना चाहते है

13
loading...

जी हां, हम भूतपूर्व इंडियन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की बात कर रहे हैं. क्रिकेट का करियर छोड़ने के बाद धोनी क्या करेंगे? दूसरे क्रिकेटर की तरह कमेंट्री करेंगे, कोच बन जाएंगे या दूसरा कोई काम करेंगे? फिलहाल तो लग रहा है, धोनी ने तीसरा ऑप्शन चुना है. दरअसल, फिल्म इंडस्ट्री में धोनी के कई अच्छे दोस्त हैं. जैसे जॉन अब्राहम और सुशांत सिंह राजपूत. अपने ऊपर जब फिल्म बन रही थी, धोनी ने इंडस्ट्री को करीब से देखा. उसी समय उन्होंने अपने कुछ दोस्तों से कहा था कि वे इस क्षेत्र में अपना हाथ आजमाना चाहेंगे. पिछले साल जब समीर कर्णिक ने उन्हें अपनी फिल्म ‘डॉग हाउस’ का हिस्सा बनाने का निर्णय लिया, धोनी को जैसे मन मांगी मुराद मिल गई. इस फिल्म में संजय दत्त, सुनील शेट्टी और आर माधवन काम कर रहे हैं. फिल्म की कहानी अंडर डॉग्स पर है. खबरों की मानें तो धोनी और भी फिल्में साइन कर सकते हैं. क्रिकेटरों का फिल्मों में काम करना कोई नई बात नहीं. जिन दिनों बल्लेबाज सुनील गावसकर की तूती बोलती थी, उन्होंने एक मराठी फिल्म सावली प्रेमाची में हीरो का किरदार निभाया था.

इसे भी पढ़िए :  लद्दाखवासियों की बात सुने सरकारः राहुल गांधी

इसके कई सालों बाद हिंदी फिल्म ‘मालामाल’ में भी एक कैमियो रोल में दिखे थे. अगर क्रिकेटर की हीरो बनने की बात करें तो 83 के वर्ल्ड कप के हिस्सेदार हैंडसम क्रिकेटर संदीप पाटिल फिल्मी हल्कों में बेहद लोकप्रिय थे. उस समय की चर्चित अदाकारा पूनम ढिल्लों के साथ उनकी फिल्म आई थी कभी अजनबी थे.
विनोद कांबली, अजय जाडेजा, सैयद किरमानी, सलिल अंकोला आदि ने भी फिल्मों में छोटे-बड़े रोल किए हैं. धोनी इस मामले में थोड़े अलग हैं, क्योंकि वे अपने क्रिकेटर बनने की वजह से नहीं, एक्टिंग स्किल की वजह से एक्ट करना चाहते हैं. धोनी पूरी तैयारी से मैदान में उतरना चाहते हैं ताकि वे परदे पर अपना किरदार निभाते समय धोनी न लगा वो किरदार लगें. अभी तक तो यही देखा गया है कि क्रिकेटर का पर्दे पर करियर लंबा नहीं चलता. जिस समय वे पॉपुलर होते हैं, उन्हें कई तरह के प्रस्ताव मिलते हैं. जैसे ही वे क्रिकेट खेलना बंद कर देते हैं, उनकी पापुलैरिटी घट जाती है. धोनी के एक मित्र का कहना है, यहां वे दूसरे क्रिकटरों से अलग हैं. धोनी चाहते हैं कि वे हमेशा व्यस्त रहें, अपना मनपसंद काम करें. यही वजह है कि धोनी ने अपने पसंदीदा काम में हाथ आजमाना चाहते हैं.

इसे भी पढ़िए :  भारत में 15 अगस्त तक हो सकती है कोरोना वैक्सीन लॉन्च, 7 जुलाई से शुरू होगा ट्रायल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 2 =