लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे का निर्माणकार्य अगले साल अप्रैल से होगा शुरू

19
loading...

लखनऊ 7 जून। ट्रैफिक जाम से निजाज दिलाने के लिए करीब 63 किमी लंबे लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे का निर्माणकार्य अगले साल अप्रैल से शुरू होगा। कोरोना लॉकडाउन के कारण एनएचएआई भूमि अधिग्रहण का कार्य अभी तक शुरू नहीं कर सका। एनएचएआई के परियोजना निदेशक एनएन गिरि ने बताया कि अमौसी से बनी तक करीब 13 किमी रोड एलिवेटेड होगी। एक्सप्रेस-वे को कानपुर में प्रस्तावित रिंग रोड से जोड़ा जाएगा। इससे लखनऊ और कानपुर का सफर महज 50 मिनट में पूरा किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे बनी से नवाबगंज बर्ड सेंचुरी होते हुए कानपुर से जुड़ेगा। करीब 4700 करोड़ रुपये की लागत वाला एक्सप्रेस-वे उन्नाव के 31 और लखनऊ के 11 गांवों से होकर गुजरेगा। उन्नाव के गांवों में 440 हेक्टेअर और लखनऊ के गांवों की 20 हेक्टेअर जमीन का अधिग्रहण करना होगा। उन्होंने बताया कि किसानों को सर्किल रेट के आधार पर मुआवजा दिया जाएगा। केंद्रीय भूतल परिवहन मंत्रालय ने इस आशय का गजट कर दिया है।

इसे भी पढ़िए :  नेपाल ने दूरदर्शन को छोड़कर भारतीय समाचार चैनलों के प्रसारण पर लगाई रोका

छह फ्लाईओवर और 28 छोटे पुल भी बनेंगे
परियोजना निदेशक ने बताया कि लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे के निर्माण में दो इंटरचेंज (लूप) का भी निर्माण होगा। इसके साथ ही छह फ्लाईओवर और एक रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण करवाया जाएगा। 38 अंडरपास के साथ ही तीन बड़े पुल भी एक्सप्रेस-वे का हिस्सा होंगे। इसके अलावा 28 छोटे पुल का भी निर्माण होगा।

इसे भी पढ़िए :  कोरोना पॉजिटिव अमिताभ बच्चन की हालत स्थिर, आइसोलेशन वार्ड में इलाज जारी

इन गांव से होकर गुजरेगा एक्सप्रेस-वे
लखनऊ के अमौसी, बनी, बंथरा, सिकंदरपुर, बेहससा, चिल्लावां, गेहरू, गौरी, खांडेदेव, मीरनपुर पिनवट, नटकुर और सराय शहजारी गांव से एक्सप्रेस-वे गुजरेगा। इन गांवों से 20 हेक्टेअर जमीन का अधिग्रहण होना है। वहीं उन्नाव के बजेहरा, हिनौरा, हसनापुर, सहारावन, काशीपुर, भीखामऊ, कंथा, सरिया, बछौरा, कुदिकापुर/मनिकापुर, मेडपुर, रायपुर, तुरी छबिनाथ, तुरी राजा साहिब, पाठकपुर, तऊरा, जगेहठा, पडरी खुर्द, जरगांव, गौरी शंकरपुर ग्रांट, नवेरना, शिपुर ग्रांट, अदेरवा, बेहटा, मोद्दिनपुर, अमरसुस, करौंदी, कोरारी कलन, कादेर पटारी में जमीन का अधिग्रहण किया जाएगा।

इसे भी पढ़िए :  कमरे में संक्रमित व्यक्ति मौजूद हो तो वहां पर एसी के जरिए भी फैल सकता है कोरोना

– 62 किलोमीटर लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे
– अमौसी से बनी तक करीब 13 किमी रोड एलिवेटेड होगी।
– एक्सप्रेस-वे उन्नाव के 31 व लखनऊ के 11 गांव से होकर गुजरेगा

कोरोना लॉकडाउन के कारण लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेस-वे के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य शुरू नहीं हो पाया है। इसमें करीब छह से सात महीने लग सकता है। इसके बाद ही अगले साल अप्रैल से निर्माणकार्य शुरू किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × four =