बच्चों के माता-पिता को कोरोना वायरस के बारे में जान लेनी चाहिए ये 6 बातें

314
loading...

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ता हुआ देखकर लोगों के मन में वायरस को लेकर तरह-तरह के सवाल हैं। यूनिसेफ के द्वारा कोरोना वायरस को लेकर लोगों के मन में उठ रहे सवाल के जवाब दिए गए हैं, जिनमें से कुछ खास प्रश्नों के जवाब हम आपको इस लेख में बताने जा रहे हैं।

नोवेल कोरोना वायरस क्या है ?
दरअसल यह इस वायरस का ही नाम है। नोवेल कोरोना वायरस से इस रोग की शुरुआत चीन के वुहान शहर में सबसे पहले हुई थी। इस वायरस के चलते रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है और कुछ सर्दियों जैसे आम लक्षण दिखाई देते हैं।

कोरोना वायरस के लक्षण क्या हैं?
कोरोना वायरस के लक्षण में अभी तक डॉक्टरों के द्वारा कुछ खास लक्षण बताए गए हैं। कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को बुखार खांसी और सांस लेने में कमी होना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। कुछ अन्य केस में यह सांस लेने में दिक्कत होने लगती है और बहुत ही कम केस में संक्रमित व्यक्ति बेहोश हो जाता है। इसके लक्षण सर्दी-खांसी जैसे ही दिखाई देते हैं इसलिए लोगों को समझने में भी मुश्किल हो जाती है।

कैसे फैलता है कोरोना वायरस
कोरोना वायरस, इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आने के कारण फैलता है। आमतौर पर यह वायरस खांसने और छींकने से ही सबसे ज्यादा फैलता है। इसके अलावा संक्रमित व्यक्ति के द्वारा छुए गए किसी भी सामान या फिर ऑब्जेक्ट पर कोरोना वायरस मौजूद रहता है। अगर कोई स्वस्थ व्यक्ति उस सामान को छू लेता है तो इस कारण भी कोरोना वायरस फैलता है।

कोरोना वायरस के इंफेक्शन के खतरे से कैसे बचा जा सकता है ?
आप अपने परिवार वालों को इस संक्रमण से बचाए रखने के लिए कुछ खास सावधानियां अपना सकते हैं। अपने हाथों को पानी और साबुन से अच्छी तरह धोएं। अगर मुमकिन हो तो एल्कोहल बेस्ड हैंड रब के जरिए भी अपने हाथों को अच्छी तरह धोएं।
अपने मुंह को और नाक को किसी माउथ मास के जरिए ढक कर रखें। खांसते और छींकते समय किसी टिश्यू का इस्तेमाल करें और उसके बाद उसे कूड़ेदान में फेंक दें।
जिन लोगों को सर्दी और खांसी के लक्षण दिखें, उनके बहुत करीब न जाएं।
अगर आपके बच्चे को सर्दी, खांसी और बुखार और सांस लेने में दिक्कत हो रही है तो तुरंत डॉक्टर के पास इलाज के लिए जाएं।

क्या मुझे मेडिकल मास्क चाहिए ?
अगर आपको सर्दी खांसी से जुड़ी हुई कोई समस्या है तो आपको मेडिकल मास्क पहनने की जरुरत है। इसके अतिरिक्त अगर आप स्वस्थ भी हैं तो भी आपको मेडिकल मास्क पहनने की जरुरत है। इसके कारण यदि आपके संपर्क में कोई वायरस आता भी है तो मुंह और नाक ढके होने के कारण यह आपको संक्रमित नहीं कर पाएगा और आप सुरक्षित बचे रहेंगे।

क्या यह बच्चों और गर्भवती महिलाओं को संक्रमित कर सकता है ?
अभी इस पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। हालांकि बच्चों में कोरोना वायरस के संक्रमण का केस अभी बहुत कम ही देखने को मिला है। गर्भवती महिलाओं के संक्रमण की स्थिति भी डॉक्टरों के द्वारा जल्द ही बताई जाएगी। इसलिए कोशिश करें कि आप अपने बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए उसे मास्क जरुर पहनाएं। साथ ही इस बात का ख्याल रखें कि कोई भी संक्रमित व्यक्ति आपके बच्चे और गर्भवती महिला के संपर्क में न आएं।

बच्चों में कोरोना वायरस के लक्षण को कैसे पहचानें ?
बच्चों में कोरोना वायरस के लक्षण को पहचानने के लिए आप इस वायरस के सामान्य लक्षण को ध्यान से समझ लीजिए। बच्घों को सर्दी, खांसी और बुखार जैसे लक्षणों के दिखने पर तुरंत उन्हें जांच के लिए डॉक्टर के पास लें जाएं और उनका इलाज करवाएं। इस दौरान कोल्ड होने पर बच्चों को भी मास्क पहनने की सलाह दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × four =