सिनेमा प्रेमी नहीं भूल पाएंगे पंडित जी इरफान खान ओैर ऋषि कपूर को

51
loading...

बीते दिवस महान कलाकार इरफान खान चले गए और आज प्रसिद्ध अभिनेता ऋषि कपूर ने भी ले ली विदाई। फिल्मी दुनिया से इनका जाना एक बड़ा धक्का तो है ही इनके प्रशंसकों के लिए भी आघात पहुंचाने वाला है। जयपुर में पैदा हुए इरफान खान कलाकार के साथ साथ शाकाहार का संदेश देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे।क्योंकि एक बार पढ़ा था कि उन्हेांने कभी मांसाहार नहीं किया और उनके परिजन उन्हें पंडित जी कहकर बुलाते थे। पिछले वर्षों में उनकी अभिनय क्षमता के लिए सरकार द्वारा उन्हें पदमश्री से नवाजा गया था। संघर्षों के बाद इस क्षेत्र में अपने पैर जमाने वाले इरफान खान को हर फिल्मी कलाकार उनके अभिनय के लिए मानता था। और उनकी बोलती आंखे भी बिना कुछ कहे बहुत कुछ कह जाती थी। पूरी शान से फिल्मी दुनिया में जीए और अंत में अंतिम शब्द मां बुला रही के साथ उनके जानकारों के अनुसार वो विदाई ले गए। इसी प्रकार से पिछले काफी समय से बीमारी का सामना कर रहे कपूर खानदान के ऋषि कपूर भी जीवन पर्यत अभिनय की दुनिया में बने रहे। और कभी अपनी वाकपटुता और स्पष्टवादिता को लेकर भी चर्चाओं में रहे। उनकी फिल्म अमर अकबर एंथनी और बाॅबी के गाने कई दशक बाद भी युवा और पुरानी पीढ़ी में लोकप्रिय है। तो फिल्म बाॅबी के गाने हम तुम एक कमरे में बंद हो और चाबी खो जाए ने अपने जमाने में रिकाॅर्ड तोड़े। रही बात उनके अभिनय की तो किसी भी रोल में आते हों लेकिन अपनी प्रतिभा का सिक्का हमेशा मनवाते रहे।
ऐसे दो महान कलाकार आज हमारे बीच से विदा ले गए। उनके प्रशंसक और चाहने वाले तथा दोस्त और परिवार के सदस्य उन्हें हमेशा उनके व्यवहार अभिनय के लिए याद रखेंगे। और उन्हें शायद कभी भी जिस प्रकार से राजकपूर आदि को नहीं भुला पाए उन्हें भी नहीं भुला पाएंगे। तथा इन कलाकारों के जाने से जो फिल्म जगत को क्षति हुई है उसकी पूर्ति भी शायद जल्दी ना हो पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 20 =