45 हजार के इनामी बदमाश भारत गुर्जर ने किया सरेंडर

56
loading...

धौलपुर 30 अप्रैल। जिला पुलिस के समक्ष मुठभेड़ के दौरान 3 राज्यों से फरार चल रहे 45 हजार के इनामी कुख्यात डकैत भारत गुर्जर ने उवासा जमूरा के जंगलों में पचफेरा राइफल एवं 14 जिंदा कारतूस के साथ आत्मसमर्पण किया है. डकैत भारत गुर्जर राजस्थान के टॉप टेन अपराधियों में शुमार है, जिस पर 3 राज्यों की तरफ से 45 हजार का इनाम घोषित किया हुआ था. एसपी मृदुल कच्छावा ने बताया पिछले दो माह से धौलपुर पुलिस ने दस्युओं को गिरफ्तार करने के लिए विशेष धरपकड़ अभियान चलाया था. डकैतों की धरपकड़ अभियान के दौरान पुलिस दो दर्जन से अधिक इनामी बदमाशों को गिरफ्तार कर चुकी है. पुलिस ने पचास हजार का इनामी डकैत पप्पू गुर्जर भी गिरफ्तार किया है. इसके अलावा डकैत भारत गुर्जर डकैत, केशव गुर्जर और डकैत पप्पू गुर्जर के सदस्यों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है लेकिन डकैत भारत गुर्जर पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बना हुआ था.

इसे भी पढ़िए :  कोरोना पर भारी पड़ता भारतीय आईटी सेक्टर की रफ्तार

हाल ही में पुलिस की डीएसटी टीम और बसईडांग थाना पुलिस से संयुक्त मुठभेड़ डकैतों की हुई थी, जिस मुठभेड़ में भारत गुर्जर जंगलों में फरार हो गया था. लेकिन डकैत को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस के स्पेशल थाना प्रभारियों को जिम्मा सौंपा गया था. इनमें मनियां थाना प्रभारी परमजीत सिंह, बसईडांग थाना प्रभारी कैलाश गुर्जर, बाड़ी सदर थाना प्रभारी योगेंद्र सिंह, सैपऊ थाना प्रभारी अनूप सिंह के साथ डीएसटी टीम के प्रभारी सुमन चौधरी को विशेष जिम्मा सौंपा गया था. डकैत को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने मुखबिर तंत्र को भी पुलिस ने मजबूत किया था.

गत दिवस पुलिस की डीएसटी टीम और बाड़ी कोतवाली थाना पुलिस को जरिए मुखबिर सूचना मिली थी कि डकैत भारत गुर्जर उवासा के जंगलों में अपने साथियों सहित छुपा हुआ है. मुखबिर की सूचना पर डकैत को गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया गया. भारी पुलिस बल को साथ लेकर उवासा के जंगल पहुंचकर डकैतों की घेराबंदी की गई. पुलिस को देख डकैत ने फायरिंग भी शुरू कर दी. इधर से पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की शुरुआत कर दी. करीब आधे घंटे तक पुलिस और डकैतों में फायरिंग का दौर चलता रहा.

इसे भी पढ़िए :  सेक्स रैकेट का भंडाफोड़, कई युवक व युवतियां आपत्तिजनक हालत में गिरफ्तार

इस दौरान डकैत भारत गुर्जर ने अपने आप को घिरा हुआ देख पुलिस के ललकारने पर आत्मसमर्पण कर दिया. डकैत के कब्जे से पुलिस ने 315 बोर राइफल के साथ 14 जिंदा कारतूस भी बरामद कर लिए. डकैत भारत गुर्जर पिछले 5 वर्ष से अपराध की दुनिया में सक्रिय था, जिस पर संगीन वारदातों के 33 अभियोग दर्ज हैं. डकैत का वारदात क्षेत्र धौलपुर जिले के अलावा उत्तर प्रदेश का आगरा जिला, मध्य प्रदेश का मुरैना जिला और भरतपुर एवं करौली जिला रहा है. डकैत को गिरफ्तार कर पुलिस ने पूछताछ शुरू कर दी है. एसपी ने बताया कि अब चंबल के बीहड़ों में डकैत केशव गुर्जर, डकैत राकेश डोयला, डकैत धर्मेंद्र उर्फ लुक्का पुलिस की रडार पर हैं, जिन्हें पुलिस द्वारा शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा. मीडिया के समक्ष डकैत भारत गुर्जर ने कहा कि अब हुए अपराध की दुनिया को तौबा करेगा. समाज की मुख्य धारा से जुड़ कर किसान बनकर जीवन का निर्माण करेगा. डकैत भारत गुर्जर का आत्मसमर्पण करना धौलपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी माना जा रहा है.

इसे भी पढ़िए :  सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश, पंचायत चुनाव और त्योहारों पर बरती जाए विशेष सतर्कता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + 17 =