हलवाई, ब्रेकरी और होटलों में बंद सामान का निस्तारण कर उनकी सफाई की दी जाए अनुमति

19
loading...

किसी नई बीमारी की सम्भावनाओं को रोकने के लिए

कोरोना वायरस को लेकर शहर में चर्चाऐं तो बहुत दिनों से थी लेकिन किसी को भी यह उम्मीद नहीं थी कि 21 दिन का लाॅकडाउन अचानक घोषित हो सकता है। एक दिन के जनता कफ्र्यू के दौरान यह समझा गया था कि एतिहात के लिए कदम उठाये जाएगे लेकिन 22 को ही सीएम यूपी द्वारा 25 तक और केन्द्र की सरकार द्वारा 18 प्रदेशों के 340 जिलों में लाॅकआउट शुरू किया गया उसकी अवधि अभी समाप्त भी नहीं हुई थी कि देश और जनहित में वक्त की नजाकत को देखते हुए माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा अपने जनता के संबोधन के दौरान देश में 21 दिन का लाॅकडाउन शुरू किया गया। ऐसे में एक समस्या नजर आ रही है वो यह है कि बाकी तो सब काम चल ही रहे है लेकिन देश भर के हलवाईयों होटल संचालकों और ब्रेकरी वालों के यहां जो सामान बना हुआ उनकी दुकानों में मौजूद था वो उसी स्थिति में पड़ रह गया होगा क्योंकि इनके ताले खुल नहीं रहे आज 6 दिन जनता कफ्र्यू और लाॅकडाउन को हो गया ऐसे में इस सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता कि वो खाद्य सामग्री मिठाई सब्जियां और अन्य सामान या तो सड़ चुका होगा या सड़ने वाला होगा। देश प्रदेश की सरकार और जिला प्रशासन को जनहित में और कोई नई बीमारी न फेले और जो कोई सामान सही और खाने लायक हो पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने के साथ-साथ खराब सामान फिकवाना चाहिए। और दुकानों में सड़न व बदबू पैदा न हो इसके लिए उसकी सफाई और धुलाई तथा दवाई का छिड़काव कराने की व्यवस्था तुरंत हो जिससे किसी और नई बीमारी का शिकार जनता में होने की सम्भावनाऐं समाप्त हो जाए।

इसे भी पढ़िए :  Lock Down के दौरान भाई की मौत का लोग शोक जताने न आएं, घर के बाहर लगाया संदेश

(filephoto)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

19 − fifteen =