ऑस्ट्रेलिया के कोच लैंगर ने भारत के अनुभव पर कहा कुछ ऐसा…

14
loading...

नई दिल्ली, 20 मार्च। भारत में क्रिकेट को धर्म की तरह से पूजा जाता है। इस खेल के चाहने वालों की भारत में कमी नहीं है। इस बात का अनुभव ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन Langer और गेंदबाज नाथन कुल्टर नाइल ने भारत दौरे पर किया था। उन्होंने बताया कि कैसे भारतीय फैंस अपनी हदें पार कर जाते हैं। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम पर बनीं डॉक्यूमेंट्री द टेस्ट में उन्होंने यह बातें बताई।

भारत में क्रिकेट को लेकर पागलपन देखने को मिलता है। चाहे भारतीय हो या फिर कोई विदेशी खिलाड़ी भारत में आने वाले हर एक खिलाड़ी को प्यार मिलता है। भारतीय फैंस से साथ अपने अनुभव को साझा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई कोच लैंगर ने बताया कि कैसे शुरुआत में उनको अच्छा लगाता था लेकिन फिर यह सब उन्हें परेशान करने लगा।
बस बाथरूम में भारतीय फैंस से बच सकते हैं

इसे भी पढ़िए :  समय से पूर्व दिया जाए महिलाओं को उनका अधिकार

ऑस्ट्रेलिया के कोच Langer ने भारत के अनुभव पर कहा, “हां, पहले कुछ हफ्ते तो मुझे भारत बहुत ही प्यारा लगा लेकिन इसके बाद यह सब बहुत ज्यादा सताने वाला था। ईमानदारी से कहूं तो भारतीय क्रिकेट से बहुत ज्यादा ही प्यार करते हैं और आपको अकेलापन के नाम पर या तो वो जगह मिलती है जहां आप कपड़े बदलते हैं या फिर बाथरूम।”

इसे भी पढ़िए :  दुनिया के सबसे बड़े कोविड सेंटर का LG अनिल बैजल ने किया उद्घाटन

होटल में लोग रूम सर्विस के बहाने लेते हैं सेल्फी

कंगारू कोच ने बताया कि कैसे होटल में भी वो फैंस से परेशान रहते थे। उनका कहना था “भारत में यह बहुत आम बात है कि लोग होटल में आपका कमरा खटखटाएं और आपके साथ रूम सर्विस का पोज दें जो विदेशी खिलाड़ी यहां आए हैं उनके साथ सेल्फी लेने के लिए। बल्कि होटल रूम में भी यह बहुत ही आम सी बात थी कि लोग झूठ में रूम सर्विस के बहाने आपके कमरे का दरवाजा खटखटाएं और आपके साथ सेल्फी की मांग करें। यह वाकई बहुत ही दुखी करने वाला होता है।”

इसे भी पढ़िए :  नौसेना ने सशस्त्र बलों की वर्दी की अनधिकृत बिक्री पर प्रतिबंध की मांग की

नाथन कुल्टर नाइल ने भी कुछ ऐसा ही अनुभव किया था भारत में खेलने के दौरान। उन्होंने बताया “भारतीय क्रिकेट को बहुत ज्यादा ही प्यार करते हैं। अगर आप अच्छा करते हैं तो आपका काफी प्यार मिलेगा और आपने अच्छा नहीं किया तो वो आपको जानते भी नहीं है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − 6 =