संजय अग्रवाल को मिल सकती है क्लीन चिट, पढ़कर प्रशंसकों में है खुशी

77
loading...

ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ और जनहित की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति तक पहुंचाने वाले आईएएस अफसर

मुख्यमंत्री के सचिव रहे चुके, यूपीपीसीएल के पूर्व चेयरमैन व ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव वरिष्ठ आईएएस अधिकारी श्री संजय अग्रवाल को एक खबर के अनुसार पीएफ घोटाले में आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) क्लीन चिट दे सकती है। जिस हस्ताक्षर के आधार पर इस घोटाले में संजय के शामिल होने का शक था उसके फर्जी होने की बात सामने आई है।

गलत तरीके से कर्मचारियों के पीएफ के पैसों का प्राइवेट फर्मों में हुए निवेश से संबंधित एक पत्रावली पर संजय अग्रवाल के हस्ताक्षर का आरोप लगा था। पत्रावली जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया था। सूत्रो के अनुसार प्रयोगशाला ने जांच के बाद उस हस्ताक्षर को फर्जी बताया है। दिल्ली में हुई पूछताछ में संजय अग्रवाल ने भी इसे फर्जी बताते हुए पीएफ घोटाले से खुद को अनभिज्ञ बताया था। ईओडब्ल्यू के सूत्रों का कहना है कि उस हस्ताक्षर के अलावा और कोई भूमिका संजय की इस घोटाले में प्रतीत नहीं हो रही है। हालांकि इस बारे में आधिकारिक रूप से कोई भी बोलने को अभी तैयार नहीं है।
बता दें कि दिसंबर में इस घोटाले के सामने आने के बाद हजरतगंज थाने में एक एफआईआर दर्ज की गई थी और इसकी विवेचना ईओडब्ल्यू से शुरू कराई गई थी। मामले में यूपीपीसीएल के पूर्व वित्त निदेशक सुधांशु द्विवेदी समेत कई लोग गिरफ्तार हो चुके हैं।

इसे भी पढ़िए :   रात को जल्दी सोने वाली महिलाओं में अधिक होती है गर्भवती होने की संभावना, जानें कैसे

वैसे तो यह मामला अभी जांच में चल रहा है इसलिए इस बारे में कुछ भी नहीं कहना मगर क्योंकि लोकतंत्र में सबको अपनी बात कहने का अधिकार प्राप्त है। इसलिए यह कहने में मैं कोई गलत महसूस नहीं कर रहा हूं कि यह समाचार पढ़कर ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों तथा जहां जहां श्री अग्रवाल किसी भी पद पर रहे हों वहां के नागरिकों में इसे अच्छी खबर बताया जा रहा है। स्मरण रहे कि श्री संजय अग्रवाल ईमानदार कर्तव्यनिष्ठ और केंद्र में रहें चाहें प्रदेश में अपने विभाग से संबंधित जनहित की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों तक समय से और सुविधा से पहुंचाने और सबकी बात सुनने तथा उनकी समस्याओं का समाधान करने के साथ साथ आम आदमी का सम्मान करने वाले अफसरों में शुमार हैं। इसलिए जब यह खबर आज लोगों ने पढ़ी तो कितनों ने एक दूसरे को बधाई भी दी। इनका मानना था कि अगर अच्छी प्रवृति वाले संजय अग्रवाल जैसे अफसरों को न्याय जल्द से जल्द मिले तो वो सबके हित में रहता है। वर्तमान समय में श्री संजय अग्र्रवाल केंद्र सरकार के कृषि विभाग में सचिव पर तैनात बताए जाते हैं।

इसे भी पढ़िए :  निर्भया फंड के तहत केंद्र अब तक 3,024 करोड़ रुपये कर चुका है जारी: स्मृति ईरानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − twelve =