रोना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

4
loading...

नई दिल्ली 14 फरवरी। आम तौर यह धारणा प्रचलित है कि हंसना खास तौर से कहकहे के साथ हंसना सेहत के लिए लाभप्रद होता है लेकिन यह बात कम ही लोग जानते हैं कि रोना भी उतना ही फायदेमंद है जितना हंसना। मौजूदा दौर में भगदौड़ वाली जिंदगी में कम ही लोगों को हंसने और रोने का मौका मिलता है, क्योंकि लोगों की दिनचर्या में इसकी गुंजाइश ही कम है। वास्तविकता यह है और कहावत भी है ‘जीवन में खुशियों के लिए रोना भी जरूरी है। क्योंकि जिस तरह हंस कर व्यक्ति अपनी भावनाओं को व्यक्त करता है, इसी तरह रोना भी भावनाएं व्यक्त करने का तरीका है। क्योंकि जिंदगी की भागदौड़ में व्यक्ति हंसने और रोने के लिए वक्त नहीं निकाल पाता तो विशेषज्ञों का मानना है इसकी वजह से डिप्रेशन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। हाल ही में इस समस्या से लड़ने के लिए खासतौर क्राइंग क्लाब शुरू किये जा रहे हैं, जहां इंसान रो कर अपने दिल के बोझ को हल्का कर सकता है। सूरत में भी इस तरह की पहल की गई है। यहां के क्राइंग क्लब द्वारा काॅलेज में पढ़ने वाली छात्राओं के लिए एक खास क्राइंग थेरेपी का आयोजन किया गया। प्राप्त खबरों से मिली जानकारी के अनुसार जाने माने लाफ्टर थेरेपिस्ट कमलेश मसालावा और सूरत के डाक्टरों की टीम द्वारा हेल्थ क्राइंग क्लब की शुरु आत की गयी। उनका कहना है कि लोग दिल खोलकर हंसते हैं पर रोने के लिए कोना या एकांत ढूढंते हैं लेकिन हकीकत यह है कि किसी भी व्यक्ति को सरेआम फूट-फूटकर रोना चाहिए। रोने से दुःख-दर्द कम हो जाता है।
साथ ही मन में बैठा हुआ बोझ हल्का हो जाता है।

इसे भी पढ़िए :  मध्य प्रदेश के सीहोर जिले में एक अनोखी शादी, बिना 7 फेरे लिए ऐसे किया विवाह...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − two =