नागरिकता कानून को लेकर फिल्म अभिनेताओं की जंग; नसीरूददीन शाह साहब से आखिर जन्म प्रमाण मांगा किसने है

24
loading...

अपने देश के गांवों में प्रचलित कहावत तु मुझे पंत कह मैं तुझे निराला आजकल फिल्म चरित्र अभिनेता नसीरूददीन शाह और अनुपम खेर पर सही उतर रही है। क्योंकि नागरिकता कानून को लेकर अनुपम खेर और नसीरूददीन शाह के बीच जो जंग चल रही है वो उनकी अपनी अलग सोच है। लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर नसीरूददीन साहब से उनका जन्म प्रमाण पत्र मांगा किसने है जो वो इतना बवाल कर रहे हैं। बताते चलें कि सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने हाल ही में अनुपम खेर पर जुबानी हमला बोला था और उन्हें जोकर और चाटुकार तक कहा था। एक इंटरव्यू में नसीरुद्दीन ने कहा था कि लोग उनके चापलूस स्वभाव के बारे में बता सकते हैं और यह उनके खून में है। जिसके बाद अनुपम ने एक वीडियो शेयर करते हुए नसीर को जवाब दिया और कहा कि मेरे खून में हिंदुस्तान है। आप इसको समझ जाइए बस। अगर मेरी बुराई करके अगर आप एक-दो दिन के लिए सुर्खियों में आते हैं तो मैं खुशी आपको भेंट करता हूं।

इसे भी पढ़िए :  पाकिस्तान के काम से नाखुश FATF ने पाक को दी चेतावनी 

बाॅलीवुड एक्टर नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि मुझे नहीं लगता कि उन्हें गंभीरता से लेना चाहिए और एनएसडी और एफटीआईआई का कोई भी उनका समकालीन यह बात कह सकता है कि उनका बर्ताव साइकोपैथिक है। नसीरुद्दीन शाह के इस बयान पर बाॅलीवुड एक्टर अनुपम खेर ने वीडियो शेयर कर जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि अगर आप मेरी बुराई करके सुर्खियों में आना चाहते हैं तो मैं आपको एक खुशी भेंट करता हूं। भगवान आपको खुश रखे, आपका शुभचिंतक अनुपम। नसीरुद्दीन शाह के जवाब के लिए आया अनुपम खेर का यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, साथ ही लोग इसपर खूब कमेंट भी कर रहे हैं. अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह की बात पर पलटवार करते हुए कहा कि जनाब नसीरुद्दीन शाह साहब, मैंने आपका इंटरव्यू देखा, जिसमें आपने मेरी तारीफ में कुछ बातें कही थीं कि मैं जोकर हूं, मेरे खून में क्या है। मैं साइकोफैन हूं। इस तारीफ के लिए शुक्रिया, लेकिन मैं आपको और आपकी बातों को बिल्कुल भी गंभीरता से नहीं लेता हूं। हालांकि मैंने कभी भी आपके बारे में कुछ बुरा नहीं कहा था लेकिन अब बोलूंगा और अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह को जवाब देते हुए अपने वीडियो में आगे कहा कि इतना कुछ हासिल करने के बाद आपने अपनी पूरी जिंदगी हताशा में गुजारी। अगर आप दिलीप कुमार साहब, अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना, शाहरुख खान और विराट कोहली की आलोचना कर सकते हैं तो मेरा विश्वास है कि मैं फिर सही कंपनी में हूं। इनमें से किसी ने भी आपके बयान को गंभीरता से नहीं लिया क्योंकि हम सभी जानते हैं कि वर्षों से जिन पदार्थों का सेवन आप कर रहे हैं यह उसी का नतीजा है। आप सही और गलत के बीच अंतर नहीं जानते हैं। अनुपम खेर का जो कहना है वो है लेकिन मुझे लगता है कि नसीरूददीन शाह साहब को आजकल पहले के मुकाबले काम तो ज्यादा मिल नहीं रहा है। इसलिए शायद मीडिया की सुर्खियों में बने रहने के लिए उनके बार बार नागरिकता कानून और जन्म प्रमाण पत्र नहीं दूंगा जैसा मुददा उछाला जा रहा है। असलियत क्या है यह तो वही जान सकते हैं लेकिन लेकिन अगर वो इतना ध्यान फिल्म प्राप्त करने या अपनी बनाने अथवा किसी और काम में लगाए तो शायद उससे उन्हें अच्छी सफलता भी मिल सकती है और नाम भी। इस बिंदु पर शोर मचाने से कुछ होने वाला नहीं लगता है। और वो यह भी तो बताए कि उनसे किस ने जन्म प्रमाण पत्र मांगा है क्योंकि वो भारतीय हैं इस पर शायद किसी को भी कोई गलतफहमी नहीं है।

इसे भी पढ़िए :  समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता शाकिर अली का 67 वर्ष की आयु में निधन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

15 + 5 =