सोशल मीडिया एसोसिएशन व ऑल इंडिया न्यूज पेपर एसोसिएशन ने की बाबुल सुप्रियो के कथन की निंदा

21
loading...

क्या केंद्रीय मंत्री चैनल के रिपोर्टर को सस्पेंड करा सकते हैं

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो द्वारा छत्तीसगढ़ के भिलाई में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में आयोजित जनसभा में गत 14 जनवरी मंगलवार को मीडियाकर्मियों से मंच के सामने से हटने को लेकर कहे गए शब्दों पर हुए विवाद के बाद बाबुल सुप्रियो बोले कि यहां से जाना चाहते हो तो चले जाओ यहां गुंडागर्दी करना है तो आपको सस्पेंड करा दूंगा। जाईए आपसे बाद में बात करूंगा। जिनसे बात करना है उनके सामने आप खड़े भी नहीं हो सकते। अनुशासन रखिए मुझे कमजोर मत समझिए। कि आप चले जाएंगे तो मेरा नुकसान होगा। जाईए इसके बाद क्या होगा मैं देखूंगा।

इसे भी पढ़िए :  नए निर्देशकों को सलाह देते हुए ऋषि ने ट्वीट किया

बाबुल सुप्रियो के सभी कथन सही है। लेकिन उनका यह कहना कि सस्पेंड करा दूंगा का क्या मतलब है। यह सोचनीय विषय है। क्या बाबुल सुप्रियों के इशारे पर चैनल रिपोर्टर को सस्पेंड कर सकते हैं। दूसरा यह विषय भी सोचने का है कि कहीं सरकार मीडिया पर कोई अनुचित दबाव बनाने की रूपरेखा तो तैयार नहीं कर रही है। जिसके गुमान में बाबुल सुप्रियो द्वारा यह शब्द कहे गए। ऑल इंडिया न्यूज पेपर एसोसिएशन आईना ओैर सोशल मीडिया एसोसिएशन द्वारा उनके कथन की निंदा करते हुए कहा गया है कि यह लोकतंत्र के चैथे स्तंभ मीडिया को धमकाने और दबाव में लेकर अपने हिसाब से उन्हें चलाने की कोशिश की शुरूआत है से मैं भी सहमत हूूं।

इसे भी पढ़िए :  स्टाईलिस दिखने के लिए स्पेशल शूज आउटलूक में लायेगा और निखार

प्रधानमंत्री जी केंद्रीय मंत्रियों सहित अन्य नेताओं को बताया जाए कि वो जो चाहे वो कहें लेकिन मीडिया को दबाव में लेने की कोशिश कर किसी भी रूप में भाजपा और केंद्र सरकार के समक्ष एक समस्या इस प्रकार के कथन से उत्पन्न करने की कोशिश ना करें तो अच्छा है। क्योंकि ऐसी बातों से विवाद बढ़ने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।

इसे भी पढ़िए :  भीम आर्मी का भारत बंद: कई दलों का समर्थन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 9 =