निर्भया के दो दोषियों 2 दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन SC से खारिज

14
loading...

नई दिल्ली, 14 जनवरी। निर्भया के दो दोषियों विनय कुमार शर्मा और मुकेश सिंह की क्यूरेटिव पेटिशन पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान खारिज कर दी। ऐसे में 22 जनवरी को दी जाने वाली फांसी का रास्ता साफ हो गया। अब इन दोनों के पास सिर्फ राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर करने का विकल्प बचा है।

बताते चलें की बीती 7 जनवरी को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट निर्भया के चारों दोषियों को फांसी देने की 22 जनवरी की तारीख तय कर चुकी है। वहीं, डेथ वारंट के बाद फांसी से घबराएं दो दोषियों मुकेश सिंह और विनय शर्मा ने ही सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव याचिका डाली है। चारों दोषियों अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय कुमार शर्मा और पवन कुमार गुप्ता की फांसी के लिए तिहाड़ जेल में चल रही तैयारी के बीच मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई हो रही है।

इसे भी पढ़िए :  जस्टिस बोबडे के कथन से; टैक्सों के बोझ से दबते जा रहे आम आदमी को मिल सकती है राहत

इस बीच सुनवाई से ठीक पहले निर्भया की मां ने अहम बयान में कहा कि उन्हें उम्मीद है कि दोषियों की क्यूरेटिव पेटिशन सुप्रीम कोर्ट से खारिज हो जाएगी। इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें उम्मीद है कि आगामी 22 जनवरी की सुबह 7 बजे चारों को फांसी पर लटकाया जाएगा।

इसे भी पढ़िए :  अब हाथ पर हाथ रखकर नहीं बैठा जा सकता

बता दें की डेथ वारंट जारी होने के बाद चार में से दो दोषियों विनय शर्मा और मुकेश सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पेटिशन दायर कर राहत की गुहार लगाई है। इस पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों की बेंच सुनवाई होगी, इनमें जस्टिस एनवी रमन्ना, जस्टिस अरुण मिश्रा, जस्टिस आरएफ नरीमन, जस्टिस आर. भानमती और जस्टिस अरुण भूषण शामिल हैं।

इसे भी पढ़िए :  आम आदमी को निःशुल्क उच्च स्तरीय चिकित्सा प्राप्त हो, बजट में की जाए व्यवस्था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + fourteen =