कांग्रेस की भारत बचाओ रैली में राहुल गांधी के भाषण के कई झोल, प्‍याज को बताया 200 रुपये किलो….

16
loading...

नई दिल्‍ली, 14 दिसंबर।    कांग्रेस द्वारा दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित भारत बचाओ रैली में पार्टी नेता राहुल गांधी ने अपने ‘रेप कैपिटल’ वाले बयान पर साफ तौर पर माफी मांगने से इनकार कर दिया और कहा कि मुझे संसद में बीजेपी ने सही बात बोलने के लिए माफी मांगने को कहा… मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है. मैं माफी नहीं मांगूंगा. इसके साथ ही उन्‍होंने पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर विभिन्‍न मुद्दों को लेकर हमला बोला.

रैली में अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए राहुल गांधी ने मंच से कहा कि ‘मुकुल वासनिक कहां हैं आप? आपने छोटे से मैदान में इतने बब्‍बर शेर और शेरनियां कैसे इकट्ठा कर दिए. देखिये ये एक साथ प्‍यार से खड़े हैं. कांगेस का कार्यकर्ता किसी से नहीं डरता. एक इंच पीछे नहीं हटता. देश के लिए अपनी जान देने के लिए तैयार रहता है.

इसे भी पढ़िए :  काॅलेजों में दी जाएगी सोशल मीडिया की जानकारी; सोशल मीडिया की आलोचना करने वालों के लिए है यह तमाचा

उन्‍होंने अपने रेप कैपिटल वाले बयान पर बीजेपी की तरफ से माफी मांगे जाने की मांग को लेकर कहा कि मैं अपने बयान के लिए कभी माफी नहीं मांगूगा. मर जाऊंगा, लेकिन माफी नहीं मांगूंगा. न ही कोई भी कांग्रेसी माफी मांगेगा.

बताते चलें की राहुल गांधी ने कहा कि सबसे पहले इस देश की आत्‍मा इस देश की अर्थव्‍यवस्‍था थी, जो आज नहीं है. पहले दुनिया हमारी ओर देखती थी और कहती थी कि भारत में ये क्‍या (आर्थिक तरक्‍की) हो रहा है. अलग-अलग धर्मों, जातियों और विचारधारों वाला यह देश 9 फीसदी जीडीपी पर कैसे चल रहा है. चीन और भारत दुनिया का भविष्‍य. और ये देखिये आज ये प्‍याज पकड़े हुए हैं. आज प्‍याज 200 रुपये प्रति किलो है. पीएम मोदी ने देश की अर्थव्‍यवस्‍था को अेकेले नष्‍ट कर दिया. वे (पीएम नरेंद्र मोदी) रात को 8 बजे टीवी पर आए और कहा भइयो और बहनों 500 और 1000 रुपये का नोट रद्द करने जा रहा हूं और देश की अर्थव्‍यवस्‍था पर उन्‍होंने ऐसी चोट मारी, जिसके नुकसान की भरपाई आज तक नहीं हो पाई है. नोटबंदी को कालेधन और भ्रष्‍टाचार के खिलाफ लड़ाई बताया गया और झूठ कहा गया. माता-बहनों और युवाओं के घरों और जेब से पैसा निकाला और लाखों करोड़ रुपये अडाणी और अनिल अंबानी के हवाले कर दिए. उसके बाद लाए गब्‍बर सिंह टैक्‍स.

इसे भी पढ़िए :  नागरिकता कानून को लेकर फिल्म अभिनेताओं की जंग; नसीरूददीन शाह साहब से आखिर जन्म प्रमाण मांगा किसने है

बता दें की उन्‍होंने आगे कहा कि मनमोहन सिंह और पी चिदंबरम ने उनसे कहा कि इसे बिना पायलट प्रोजेक्‍ट लागू मत कीजिए. इससे पूरे देश का नुकसान हो जाएगा. लेकिन मोदी जी कहते हैं कि नहीं मैं तो रात को टैक्‍स लागू करके दिखाऊंगा और कर दिया. और क्‍या हुआ. आज सबसे ज्‍यादा बेरेाजगारी देश में है. पहले देश की 9 प्रतिशत जीडीपी ग्रोथ रेट थी, जो आज 4 फीसदी रह गई है. आज हमारे तरीके से नापो तो जीडीपी 2.5 प्रतिशत रह गई है.

इसे भी पढ़िए :  संघ प्रमुख की पर्यावरण संरक्षण में दिलचस्पी के होंगे अच्छे परिणाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − 4 =