राष्ट्रहित में यही जरूरी है :  दशहरा पर्व पर समस्याओं और बुराईयों की सोच रूपी रावण का करें अंत

16
loading...

पूरी दुनिया में भारतवंशियों द्वारा बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतीक दशहरा पर्व बताते हैं कि हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम तथा वर्तमान में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा फ्रांस में दशहरा की पूजा के साथ ही शस्त्रों का पूजन भी किया गया बताते हैं। तो अपने देश के गांव-देहात गली मौहल्लों में दशहरा पूजन और तिलक लगाकर कानों में नौरतें रखने की धार्मिक परंपरा निभाई गई। कुल मिलाकर हर व्यक्ति उत्साह और उमंग से भरा नजर आया। तथा बुराईयां छोड़ने व अच्छी अच्छी बातें करने तथा दूसरों की मदद करने का संकल्प लेते अनेकों लोग दिखाई दिए।

इनका उपयोग करेंगे
आओं भगवान राम के आदर्शों और प्रेरणास्त्रोत प्रसंगों को आत्मसात कर लालच कामचोरी और दूसरें की बुराई सोचने की राक्षसी प्रवृति छोड़ ऐसा काम करने का प्रण लें जिससे किसी को कोई कष्ट अथवा नुकसान न पहुंचे। देश के विकास और उन्नति के लिए जरूरी है कि हम सब निरोगी, प्रसन्न और खुश रहें। आसपास का माहौल हमारे उत्साह से भरा हो और हम सब अच्छे भविष्य के लिए निरंतर काम करते रहें।
इसके लिए जरूरी है कि हम स्वस्थ और निरोगी धन संपत्ति भाईचारा और सदभाव प्यार और एकता की भावना से परिपूर्ण हों तथा स्वस्थ रहने के लिए यह संकल्प लें कि भविष्य में किसी भी प्रकार की काम चोरी और बीमारी को लेकर लापरवाह नहीं होंगे निरंतर कसरत व जॉगिंग  व व्यायाम करेंगे। दाल हरी सब्जी का उपयोग निरंतर करेंगे। प्रकृति से निरंतर संपर्क बनाए रखेंगे। समाज की हर अच्छी गतिविधि में अपना पूर्ण योगदान देंगे।

इसे भी पढ़िए :  जिम्मेदार अधिकारी दें ध्यान : पराली और कोल्हू से कम जनरेटरों और कूड़ा जलाने तथा वाहनों से निकलने वाले जहरीले धुएं से ज्यादा हो रहा है प्रदूषण

दूर रहेंगे
मिठाई आदि का खाने से दूरी रखेंगे। फास्ट फूड से जितना हो सके बचके रहेंगे। दफ्तर में निरंतर घंटों लगातार एक जगह नहीं बैठेंगे। बीच-बीच में थोड़ा बहुत इधर-उधर जरूर घुमेंगे। दूषित पानी का उपयोग नहीं करेंगे। मिलावटखोरी रोकने के साथ-साथ मिलावटी सामान खाने से पूर्ण रूप से बचने का प्रयास करेंगे।

प्रदूषण से बचेंगे
हम और हमारा परिवार पूर्ण रूप से स्वस्थ रहे। समाज में किसी को भी बिना मतलब की बीमारियों का सामना न करना पड़े इसके लिए प्रदूषण फैलाने वाले कारणों जैसे प्लास्टिक का उपयोग करने से बचेंगे और औरों को भी ऐसा न करने के लिए समझाएंगे। स्वच्छ वातावरण बना रहे इस हेतु कूड़े के निस्तारण की ओर पूरा ध्यान देने की कोशिश रखेंगे। पानी की निकासी हर जगह नियमित बनी रहे। नाले नाली जरा सी बारिश में गंदगी का घर न बन पाए ऐसा प्रयास भी करने में आगे रहने की कोशिश हमारे द्वारा की जाएगी।

इसे भी पढ़िए :  वाकई नागरिक मित्र लगी कोलकाता पुलिस कहीं चालान और जाम दिखाई नहीं दिया

सरकार की सुविधा
सरकार जो सुविधाएं हमें दे रही है खुद और औरों को वो प्राप्त हो इसके लिए टूटी सड़कों में सुधार हों नियमित रूप से शुद्ध जल की सप्लाई प्राप्त हो। कहीं कोई जबरदस्ती का अतिक्रमण न करें तथा यातायात सुगम हो सके इसके लिए खुद भी जिम्मेदार लोगों को काम करने हेतु मजबूर करेंगे।

भयमुक्त वातावरण
समाज में किसी भी प्रकार का अपराध ना हो बहन बेटियां भयमुक्त वातावरण में कहीं भी आ जा सकें। गुंडे मवालियों पर अंकुश लगे। इसके लिए भी हर नागरिक को साफ सुथरा भयमुक्त माहौल उपलब्ध हो उसके लिए हम खुद और जिम्मेदार अधिकारियों से मिलकर जहां तक हो सके अपराध और अपराधियों पर अंकुश लगाने और लगवाने की भरपूर कोशिश करेंगे।

हिंसक जानवरों
समाज के नागरिकों में सड़कों पर खुले घूमने वाले हिंसक जानवर कुत्ते और बंदरों की बढ़ती संख्या पर रोक लगवाने हेतु सब मिलकर जिम्मेदार अफसरों को मजबूर करने का काम कर ऐसा माहौल बनाने की कोशिश करेंगे जिससे कोई भी नागरिक इनकी हिंसा का शिकार होकर अपने परिवार और समाज के लिए परेशानी का कारण न बने।

मिलावटखोरी
हर व्यक्ति को सरकार की नीति के तहत और स्वस्थ रखने हेतु मिलावटखोरी करने वालों पर नजर रखने के साथ-साथ इनकी गतिविधियों पर पूर्ण अंकुश लग सके इसके लिए प्रयास करने का संकल्प भी हम लें तो मुझे लगता है कि सही मायनों में बुराईयों पर अच्छाई का प्रतीक इस दशहरा पर्व का उददेश्य पूरा होगा। और भगवान ने जो हमें सदमार्ग दिखाया है तथा मानव जीवन दिया है उसका सही उपयोग और इससे रावण वध का औचित्य सिद्ध होता है।
आओ सब मिलकर हर प्रकार की बुराई से स्वयं को औरों को बचाने और भेड़ की खाल में छिपे भेड़ियों व सियारों की गंदी नीयत सोच और कार्य प्रणाली के खिलाफ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के दिखाए मार्ग पर चलते हुए अहिंसक रूप से आगे बढ़कर देशहित में सामूहिक रूप से काम करने का प्रयास करने और औरों को भी इसके लिए सहमत बनाने के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे। इन्हीं मनोकामनाओं के साथ समस्त देशवासियों को हम दशहरा के पावन पर्व पर अपनी बधाई और शुभकामनाएं देते हुए मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान राम से प्रार्थना करते हैं कि शीघ्र आने वाली दीपावली सभी के जीवन में धन धान्य और खुशहाली से परिपूर्ण हो।

इसे भी पढ़िए :  बिजली चोरी रोकने हेतु अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ भी की जाए कार्रवाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − six =