बोरवेल में गिरे मासूम को बचाने की कोशिशें तेज, सरकते हुए 100 फुट पर पहुंचा बच्चा

36
loading...

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर।     तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली जिले के नादुकट्टुपट्टी में बोरवेल में गिरे दो साल के बच्चे को बचाने का प्रयास लगातार जारी है. राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और राज्य आपदा मोचन बल ने बचाव अभियान को और गति देने के लिए बोरिंग मशीन मंगवा ली है. बताते चलें की बच्चा 25 अक्टूबर की शाम लगभग 5:30 बजे बोरवेल में गिर गया था और 30 फुट की गहराई में जाकर अटक गया था. इसके बाद रात में वह और नीचे सरकते हुए लगभग 70 फुट की गहराई में जाकर फंस गया. बताया जा रहा है कि सरकते हुए बच्चा अब करीब 100 फुट की गहराई में पहुंच गया है.

इसे भी पढ़िए :  इन लेटेस्ट स्मार्टफोन्स पर मिल रहा है डिस्काउंट ऑफर

इस मामले पर तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री सी विजया भास्कर ने कहा था कि बोरवेल में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है. उन्होंने कहा था कि बच्चे के 70 फट नीचे फिसल जाने के बाद अधिकारी उसके रोने की आवाज नहीं सुन पा रहे हैं. दमकल विभाग और अन्य लोगों द्वारा शुक्रवार शाम से ही बच्चे को बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं. शुरुआत में बच्चे तक पहुंचने के लिए बोरवेल के पास गड्ढा खोदने के लिए मशीनों को काम पर लगाया गया, लेकिन इलाका चट्टानी होने के कारण इसे बीच में ही रोक दिया गया.

इसे भी पढ़िए :  एकता कपूर ने किया बड़ा ऐलान-'नागिन 5' पर जल्द होगा काम शुरू

इसे तोड़ने के प्रयास से कंपन पैदा होती है, जो बोरवेल के अंदर मिट्टी को धकेल सकती है, जिससे बच्चा और अधिक गहराई में पहुंच सकता है. बाद में बचाव दल ने एक विशेष उपकरण ‘बोरवेल रोबोट’ का इस्तेमाल किया, लेकिन वह भी सफल नहीं रहा. कई टीमों ने अपनी-अपनी तकनीकों के साथ बच्चे को बचाने की कोशिश की, लेकिन दुर्भाग्य से सभी असफल रहे.

इसे भी पढ़िए :  हर चीज उपलब्ध है फिर भी महंगी है, लाॅकडाउन के नाम पर गरीब और मध्यम दर्जे के व्यक्ति का आर्थिक शोषण क्यो?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × five =