ISSF वर्ल्ड कप: शूटर मनु-सौरभ को गोल्ड, भारत का ऐतिहासिक प्रदर्शन

17
loading...

रियो दि जिनेरियो। युवा मनु भाकर और सौरभ चौधरी ने शानदार वापसी करते हुए 10 मीटर एयर पिस्टल मिश्रित टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता जिससे भारत ने आईएसएसएफ विश्व कप (राइफल/ पिस्टल) में अभूतपूर्व प्रदर्शन किया।भारत के ही अभिषेक वर्मा और यशस्विनी देसवाल ने रजत पदक जीता। आखिरी दिन भारत ने अधिकतम संभावित पदक अपने नाम किये। इस नतीजे के बाद भारत इस साल आईएसएसएफ विश्व कप के सभी चार चरण में शीर्ष पर रहा जिसमें जूनियर विश्व कप शामिल है। भारत ने कुल नौ में से पांच स्वर्ण, दो रजत और दो कांस्य अपने नाम किये। किसी और देश ने यहां एक से अधिक स्वर्ण पदक नहीं जीता है। महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में दुनिया की नंबर एक निशानेबाज अपूर्वी चंदेला और दीपक कुमार ने मिश्रित एयर राइफल में चौथा स्वर्ण जीता।

इसे भी पढ़िए :  डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा से पहले अमेरिका की पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी

अंजुम मुद्गिल और दिव्यांश सिंह पंवार ने कांस्य पदक अपने नाम किया। एयर पिस्टल में मनु भाकर और सौरभ चौधरी ने यशस्विनी और वर्मा को 17.15 से हराकर पीला तमगा जीता। सत्रह बरस के मनु और सौरभ चारों विश्व कप चरण में आईएसएसएस मिश्रित टीम एयर पिस्टल का स्वर्ण जीत चुके हैं। उन्होंने क्वालीफिकेशन के दूसरे दौर में 400 में से 394 अंक बनाये जिसमें आखिरी 10 शाट में 100 शामिल है। यशस्विनी और वर्मा का स्कोर 386 रहा। चीन को कांस्य पदक मिला। इससे पहले अपूर्वी और दीपक ने एकतरफा फाइनल में चीन के यांग कियान और यू हाओनान को 16.6 से मात दी। दोनों ने दूसरे क्वालीफिकेशन दौर में शीर्ष स्थान हासिल किया। उनका योग 419.1 रहा जिससे सीधे स्वर्ण पदक के मुकाबले में प्रवेश मिला।

इसे भी पढ़िए :  वैश्विक बाजार में सोने-चांदी की कीमत में तेजी

अंजुम और दिव्यांश ने 418.0 स्कोर करके चौथा स्थान हासिल किया। कांस्य पदक के मुकाबले में उन्होंने हंगरी के एस्टर मेसजारोस और पीटर सिडि को 16.10 से हराया। भारत इस साल आईएसएसएफ विश्व कप के चार चरण में 22 पदक जीत चुका है जिसमें 16 स्वर्ण शामिल हे। इससे पहले भारत ने कुल 19 स्वर्ण जीते थे जिनमें से 11 राइफल में थे।

इसे भी पढ़िए :  ट्रैफिक जाम की समस्या का हो सकता है समाधान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − 8 =