बाहरी ग्रह सुपर अर्थ पर पहली बार पानी की खोज, जीवन होने की भी संभावना

26
loading...

लंदन । खगोल वैज्ञानिकों ने अत्यंत उत्साहित करने वाली खोज में पहली बार हमारे सौरमंडल से बाहर मौजूद एक ग्रह के वातावरण में पानी की खोज की है। इस ग्रह पर धरती के समान तापमान मौजूद हैं जो हमारे सौरमंडल के बाहर एक दूरस्थ सितारे की कक्षा में मौजूद है जहां जीवन की संभावना है।

इसे भी पढ़िए :  MP: हिंदू-मुस्लिम बनाएंगे गायों का अस्पताल, गंगा-जमुनी तहजीब बनी एकता की मिसाल

धरती से आठ गुणा अधिक के द्रव्यमान वाला के2-18बी जानकारी में अब एकमात्र ऐसा बाह्यग्रह है जहां पानी और तापमान दोनों है जिससे वह रहने योग्य हो सकता है। ईएसए/ नासा हब्बल स्पेस टेलीस्कोप के डेटा का इस्तेमाल कर अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि यह ग्रह एक ठंडे वामन सितारे के2-18 की कक्षा में है जो धरती से 110 प्रकाश वर्ष दूर ‘‘लियो’ तारामंडल में स्थित है।

इसे भी पढ़िए :  चूहों को मनुष्य के साथ लुका-छिपी खेलने के लिए किया जा सकता है प्रशिक्षित

उन्होंने बताया कि यह खोज किसी सितारे के रहने योग्य क्षेत्र की कक्षा में मौजूद बाहरी ग्रह के लिए पहला सफल वायुमंडलीय अविष्कार है, एक ऐसी दूरी पर जहां पानी द्रव रूप में मौजूद हो सकता है।

ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन (यूसीएल) के अनुसंधानकर्ता एंगेलोस सियारस ने कहा, धरती के अलावा संभवत: रहने योग्य जगत में पानी मिलना अत्यंत उत्साहित करने वाला है। यह अध्ययन ‘‘नेचर एस्ट्रोनॉमी’ पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

इसे भी पढ़िए :  शिखर सम्मेलन से पहले संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने चेताया- जलवायु आपदा पर पिछड़ रहे हैं हम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 + 8 =