स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरूरी हैं ये विटामिन सी से भरपूर खाद्य पदार्थ

34
loading...

नई दिल्ली। विटामिन सी शरीर के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इसे एस्कॉर्बिक एसिड के नाम से भी जाना जाता है। यह हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। इसके नियमित सेवन से सर्दी, खांसी व अन्य तरह के इन्फेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है। इतना ही नहीं, यह अनेक प्रकार के कैंसर से भी बचाव करता है और स्वस्थ रखता है। हमारे शरीर की कार्यपण्राली को सुचारू रूप से चलाने के लिए विटामिन सी अति आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है। शरीर के सभी प्रमुख अंगों जैसे ब्रेन, फेफड़े, अग्नाशय और गुर्दे इत्यादि को सही ढ़ंग से काम करने के लिए विटामिन सी की जरूरत होती है। यह शरीर में विटामिन ई की सप्लाई को पुनर्जीवित करता है और आयरन के अवशोषण की क्षमता को भी बढ़ाता है। यह एक ऐंटि-एलर्जिक व ऐंटि-ऑक्सिडेंट के रूप भी काम करता है और दांत, मसूड़ों व आंखों को भी स्वस्थ रखने में भी मदद करता है।

इसे भी पढ़िए :  कई स्वास्थ्य लाभ के साथ अंजीर का इस्तेमाल करके स्किन पर आ सकती है चमक

कमी के लक्षण
अक्सर सर्दी जुकाम होना, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, थकान, कमजोरी और बुखार, रोग प्रतिरोधक क्षमता का कमजोर पड़ना, थकावट, अचानक मसूड़ों से खून बहना, मसूड़ों में सूजन, अचानक वजन घटना, बार-बार इंफेक्शन होना, सांस लेने में तकलीफ, पाचन समस्याएं, ड्राई बाल होना, बालों का गिरना, त्वचा की असमान रंगत, घाव का देरी से भरना आदि समस्याएं विटामिन सी की कमी के लक्षण माने जाते हैं।

कितनी है जरूरत
छोटे बच्चों के लिए 40-45 एमजी, 14 से 18 साल के लोगों को 75 एमजी और उससे अधिक उम्र के लोगों को रोजाना 90एमजी विटामिन सी खाना चाहिए। वहीं अगर आप गर्भवती है तो 85एमजी और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को 120एमजी विटामिन सी लेना चाहिए।

इसे भी पढ़िए :  तंबाकू कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी को देता है दावत, इसे छोड़ने हेतु अजमाए ये उपाय

यह भी ध्यान रहे
खाद्य पदार्थो को काटकर अधिक समस्य तक रखने और गर्म करने से उनमें उपस्थित विटामिन सी में कुछ बदलाव हो सकते हैं और विटामिन सी का प्रभाव कम हो सकती है। इसलिए फलों और सब्जियों को कच्चा या हल्का पकाकर खाना चाहिए तथा खाने के बहुत समय पहले से काटकर नहीं रखना चाहिए।

सप्लीमेंट्स लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूरी
विटामिन सी का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाने के लिए कच्चे फल व सब्जियां ही खाएं। सप्लीमेंट्स के रूप में भी विटामिन सी का सेवन किया जा सकता है, लेकिन डॉक्टर की सलाह लेकर ही ऐसा करना चाहिए। क्योंकि अत्यधिक मात्रा में इसका सेवन करने से स्वास्य संबधी परेशानी हो सकती है। विटामिन सी ज्यादा मात्रा में लेने से पेट खराब होने, उबकाई आने या शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़िए :  सेहत : फोन के अत्यधिक इस्तेमाल से हो सकती है फोन नेक की समस्या

इनसे मिलता है विटामिन सी
विटामिन सी को अपने खान में शामिल करने के लिए आप खट्टे रसदार फलों का सेवन कर सकते हैं। टमाटर, नारंगी, नींबू, संतरा, अंगूर, अमरूद और सेब, टमाटर, जामुन ,कीवी, ब्रोकोली आदि में विटामिन सी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। लीची, स्प्राउट्स, लाल, पीली और हरी शिमला मिर्च ,गोभी, पालक, स्ट्रॉबेरीज, पपीता में भी विटामिन सी पाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − sixteen =