शतक चूकने पर बोले, ‘मैं स्वार्थी नहीं हूं’ : अजिंक्य रहाणे 

21
loading...

नई दिल्ली, 23 अगस्त।         भारतीय उप कप्तान Ajinkya Rahane ने वेस्टइंडीज के खिलाफ (India vs West Indies) पहले टेस्ट के पहले दिन शानदार पारी खेली, लेकिन वे 19 रन से शतक चूक गए. इस पर उन्होंने कहा कि वे शतक चूकने से चिंतित नहीं हैं. आखिर वे टीम के लिए खेलते हैं ना की खुद के लिए. Ajinkya Rahane ने एंटिगा के सर विवियन रिचर्डस स्टेडियम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को 81 रन बनाए. उनकी इस पारी ने ही भारत को संकट से बाहर निकाला. Rahane उस समय बल्लेबाजी के लिए क्रीज पर आए थे जब भारत आठवें ओवर में 25 रन तक अपने तीन विकेट गंवाकर संघर्ष करता नजर आ रहा था.

Ajinkya Rahane ने पहले तो लोकेश राहुल के साथ चौथे विकेट के लिए 68 रन की साझेदारी की. फिर हनुमा विहारी के साथ पांचवें विकेट के लिए 82 रन की साझेदारी कर भारत को 6 विकेट पर 203 रन के सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया. Rahane ने 163 गेंदों पर 10 चौकों की मदद से 81 रन बनाए. उन्होंने अपना आखिरी शतक श्रीलंका के खिलाफ 2017 में बनाया था.

Ajinkya Rahane ने पहले दिन की खेल समाप्ति के बाद कहा, ‘पारी की शुरूआत में विकेट थोड़ा मुश्किल था. विंडीज ने पूरे दिन अच्छी गेंदबाजी की. ऐसे में राहुल के साथ साझेदारी बहुत जरूरी थी. हम बहुत आगे की नहीं सोच रहे थे. हमारा लक्ष्य सिर्फ एक गेंद के बारे में सोचकर खेलना था.’

भारतीय उप कप्तान ने कहा, ‘जब तक मैं क्रीज पर होता हूं तब तक सिर्फ टीम के बारे में सोचता हूं. मैं सिर्फ टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करना चाहता था और शतक के बारे में नहीं सोच रहा था क्योंकि स्वार्थी नहीं हूं. मैं शतक से चूकने के बारे में बिल्कुल भी चिंतित नहीं हूं. मुझे शतक से चूकने का कोई दुख नहीं है क्योंकि मुझे लगता है कि इस विकेट पर 81 रन की पारी भी काफी थी. अब हम अच्छी स्थिति में हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four × 2 =