पिछले तीन हफ्तों में 6वां परीक्षण, उत्तर कोरिया ने फिर दागी दो ‘अज्ञात प्रोजेक्टाइल’ मिसाइल

10
This Saturday, Aug. 10, 2019, photo provided by the North Korean government, shows what it says the launch of a short-range ballistic missile from the east coast of North Korea. North Korea on Saturday extended a recent streak of weapons displays by firing what appeared to be two short-range ballistic missiles into the sea, according to South Korea's military. The content of this image is as provided and cannot be independently verified. Korean language watermark on image as provided by source reads: "KCNA" which is the abbreviation for Korean Central News Agency. (Korean Central News Agency/Korea News Service via AP)
loading...

नई दिल्ली, 16 अगस्त।   उत्तर कोरिया(South Korea) ने एकबार फिर मिसाइल परीक्षण किया है। शुक्रवार देर रात उत्तर कोरिया ने दो unidentified projectiles दागी। जानकारी के मुताबिक उत्तर कोरिया की ओर से पिछले 3 हफ्तों में किया गया यह 6वां परीक्षण है। इन परीक्षणों से अमेरिका और चीन के बीच तनाव बढ़ने की उम्मीद है, क्योंकि उत्तर कोरिया के इन परीक्षणों को अमेरिका के सामने उसकी सैन्य क्षमता दिखाने के तौर पर देखा जा रहा है।

बीते दिनों उत्‍तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट से दो अज्ञात प्रोजेक्‍टाइल को प्रक्षेपित किए था। उससे पहले चार अगस्‍त को प्‍योंगयांग ने पूर्वी सागर से दो अज्ञात छोटी दूरी के प्रोजेक्‍टाइल का परीक्षण किया था। इस तरह से उत्‍तर कोरिया 22 दिनों के भीतर पांचवीं बार मिसाइलों का परीक्षण कर चुका है।

इसे भी पढ़िए :  MP: हिंदू-मुस्लिम बनाएंगे गायों का अस्पताल, गंगा-जमुनी तहजीब बनी एकता की मिसाल

इन परीक्षणों में उत्‍तर कोरिया की हताशा को साफ तौर पर देखा जा सकता है। दक्षिण कोरिया और अमेरिकी सेना के संयुक्‍त अ‍भ्‍यास के बाद उत्‍तर कोरिया ने अपना परीक्षण तेज कर दिया है। इस संयुक्‍त अभ्‍यास को उत्‍तर कोरिया का लगातार विरोध कर रहा था। इस विरोध के बावजूद भी अमेरिका और दक्षिण कोरियाई सेना का संयुक्‍त अभ्‍यास शुरू हुआ। इससे उत्‍तर कोरिया तिलमिलाया हुआ है।

इसे भी पढ़िए :  आर्थिक सुधार में वित्त मंत्री की पहल  : उद्योगपतियों को होगा लाभ : वाणिज्य मंत्री अमेरिका जैसी सुविधा भी दिलवाएँ।

अधर में लटके उत्तर कोरिया और अमेरिकी सेना के संयुक्त युद्ध अभ्यास और यूएस से मिलने वाली बार-बार की धमकियों ने किम जोंग उन की नाराजगी बढ़ाई है। परमाणु हथियारों को नष्ट करने को लेकर उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच चल रही बातचीत के किसी नतीजे पर नहीं पहुंचने को लेकर भी किम जोंग उन का गुस्सा बढ़ा है।

दोनों ही देश इस संबंध में पिछले एक महीने से बातचीत के दौर से गुजर रहे हैं। किम जोंग उन की मंशा है कि कुछ हथियार नष्ट करने से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप उनके देश पर लगाए प्रतिबंधों को हटा लें। जबकि राष्ट्रपति ट्रंप उत्तर कोरिया के ऐसे सभी हथियार नष्ट कर देने के बाद प्रतिबंध हटाने की बात पर अड़े हुए हैं।

इसे भी पढ़िए :  PCS अफसर ऋतु सुहास बनीं Mrs India 2019, बोलीं- 'मेरे लिए ये सफर आसान नहीं था'

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × 3 =