साल 2000 में पहली बार हुआ था अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन

5
loading...

युवा हमेशा से ही खास रहा है चाहे वह आज का युवा हो या कुछ दशक पहले का। इक्कीसवीं सदी का युवा यूं तो मार्डन दिखता है लेकिन वह अपने संस्कारों में बंध कर परम्पराओं को सहेज कर कूल बना रहता है तो आइए हम इंटरनेशनल यूथ डे पर युवाओं पर कुछ चर्चा करते हैं।

भारत है युवाओं का देश
पूरी दुनिया में हमारा देश युवाओं का देश कहा जाता है। भारत में 35 साल की उम्र तक के 65 करोड़ युवा हैं। इसका मतलब है कि हमारे देश में मानव पावर अधिक है लेकिन जरूरत है उन्हें उचित मार्गदर्शन देने की। ऐसी हालत में आवश्यकता है युवाओं के अच्छी शिक्षा तथा सुविधाओं की जिससे समाज का कल्याण हो सके। देश के निर्माण के लिए, देश की उन्नति के लिए, देश को विश्व के विकसित राष्ट्रों के साथ खड़ा होने के लिए युवा वर्ग को मेधावी और मेहनती होना होगा।

इसे भी पढ़िए :  Laal Kaptaan Teaser: सैफ अली खान को जन्मदिन पर मिला लाल कप्तान के मेकर्स से तोहफा, फिल्म का फर्स्ट लुक रिलीज

आज के युवाओं को अपने भविष्य को उज्ज्वल बनाने की कोशिश करने चाहिए। भविष्य आशावान हो इसके लिए समय का सदुपयोग आवश्यक है। शिक्षा के बिना जीवन अधूरा होता है, इसलिए मनोरंजन, मस्ती करें लेकिन पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए। आज के युवा को विद्यार्थियों को रोजगार परक शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए इससे देश तथा समाज का कल्याण होगा।

इंटरनेशनल यूथ डे की हिस्ट्री
संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 17 दिसम्बर 1999 को यह फैसला लिया कि 12 अगस्त को अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस का आयोजन पहली बार साल 2000 में किया गया था। संयुक्त राष्ट्र संघ ने 1985 में अंतरराष्ट्रीय युवा वर्ष घोषित किया गया था।

कैसे मनाया जाता है इंटरनेशनल यूथ डे
संयुक्त राष्ट्र इंटरनेशनल यूथ डे के लिए हर साल थीम चुनता है। इस दिन दुनिया भर में कई युथ डे से जुड़े कई तरह के कार्यक्रम आयोजित के जाते हैं। आम तौर पर ये कार्यक्रम परेड, संगीत कार्यक्रम, मेले, त्यौहार, प्रदर्शनियां इत्यादि होते हैं। संदेश को फैलाने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने एक ढांचागत नजरिया विकसित किया है। इस दिन कई शैक्षिक रेडियो शो, सार्वजनिक बैठक या चर्चा आयोजित की जाती है।

इसे भी पढ़िए :  दिखना है स्टाइलिश, फेसशेप के अनुसार हो आपका Hairstyling

देश से हो रहा है प्रवास
आज दुनियाभर में भोग विलासिता अधिक बढ़ गयी है हमारे देश का युवा भी उन सुविधाओं की ओर आकर्षित हो देश के बाहर जा रहा है। ऐसे हालत में युवा देश के बाहर चले जाएंगे तो राष्ट्र को क्षति पहुंचेगी और उसके विकास पर असर पड़ेगा। अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाने का तात्पर्य है कि सरकार युवाओं के मुद्दों और उनकी विषयों से जुड़ें बातों पर ध्यान दें।

इंटरनेशनल यूथ डे का उद्देश्य
इंटरनेशनल यूथ डे का उद्देश्य है गरीबी खत्म करने तथा सतत विकास के लक्ष्यों को पाने में युवाओं की भूमिका के बारे में चर्चा करना।

इसे भी पढ़िए :  दिखना है स्टाइलिश, फेसशेप के अनुसार हो आपका Hairstyling

इंटरनेशनल यूथ डे 2019 का संदेश
पिछले 20 सालों से अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जा रहा है। इस साल इंटरनेशल यूथ डे का संदेश है कि आज की दुनिया में शिक्षा को अधिक समावेशी, सुलभ और प्रासंगिक बनाने के लिए उसके रूपांतर पर प्रकाश डाला जाय। शिक्षा के क्षेत्र में हम बहुत सी परेशानियों से जूझ रहे हैं। स्कूल में सही मार्गदर्शन तथा तकनीकी के अभाव में छात्र ठीक से सीख नहीं पा रहे हैं। आज शिक्षा को ज्ञान, कौशल और सोच से जोड़ना चाहिए। इसमें स्थिरता और जलवायु परिवर्तन की जानकारी शामिल होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 3 =