अयोध्‍या केस: रामलला विराजमान की दलील- पूर्ण न्याय करना SC के विशिष्ट क्षेत्राधिकार में आता है

16
loading...

नई दिल्‍ली, 13 अगस्त।     अयोध्या मामले में Supreme court की संविधान पीठ में पांचवें दिन की सुनवाई जारी है. सबसे पहले रामलला विराजमान की ओर से वरिष्ठ वकील के परासरन ने दलीलें रखीं. मंगलवार को अपनी बहस पूरी करते हुए उन्‍होंने कहा कि पूर्ण न्याय करना Supreme court के विशिष्ट क्षेत्राधिकार में आता है. उसके बाद इसी पक्ष के लिए सीएस वैद्यनाथन ने बहस शुरू की. वैद्यनाथन दलील देंगे कि कैसे जन्मस्थान को भी देवता की तरह ‘न्यायिक व्यक्ति’ का दर्जा है? इससे पहले परासरन ने मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को बहस के बीच में ब्रेक देने के प्रस्ताव को गलत बताया.

इसे भी पढ़िए :  मेडिकल प्रवेश घोटाले में लखनऊ और मेरठ में सुधीर गिरी के निवास पर सीबीआई के छापे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =