बेरोजगार लोगों से अधिक नौकरी वाले रहते हैं परेशान, विश्वास न हो तो पढ़ लीजिए ये रिपोर्ट

15
loading...

कैनबरा: ऑस्ट्रेलिया में पांच में चार कामकाजी लोग असुरक्षित कामकाजी प्रथा के माहौल में हैं और वे इसके कारण घायल हो रहे हैं, बीमार हो रहे हैं या फिर काम पर दर्दनाक स्थितियों के कारण दोनों से पीड़ित हो जा रहे हैं. एक सर्वेक्षण से यह खुलासा हुआ है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की Report में कहा गया कि ‘Work Should Hurt’ नाम के इस सर्वेक्षण को ऑस्ट्रेलियन काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (ACTU) ने Monday को जारी किया, जिसमें 26,000 कामगारों का सर्वेक्षण किया गया. इस सर्वेक्षण से खुलासा होता है कि करीब 80 फीसदी कामकाजी लोग अपने काम के कारण घायल, बीमार या दोनों हैं,

इसे भी पढ़िए :  मेडिकल प्रवेश घोटाले में लखनऊ और मेरठ में सुधीर गिरी के निवास पर सीबीआई के छापे

जबकि 16 फीसदी किसी ऐसे आदमी को जानते थे, जिसकी काम के दौरान मौत हो गई, या फिर काम से जुड़ी बीमारियों के कारण मौत हो गई. इसमें यह भी पाया गया कि 47 फीसदी प्रतिभागियों ने बताया कि पिछले 12 महीनों में उन्हें काम के दौरान संकटपूर्ण या दर्दनाक स्थितियों का सामना करना पड़ा और 31 Percent ने कहा कि उन्हें सहकर्मियों, क्लाइंट्स या ग्राहकों द्वारा गाली दी गई, धमकी दी गई या मारपीट की गई.

इसे भी पढ़िए :  आयुष्मान भारत योजना में घपला करने वाले अफसरों की सेवाएं हो समाप्त

पांच में से तीन कामगारों ने कहा कि पिछले 12 महीनों से वे खराब मानसिक स्वास्थ्य का सामना कर रहे हैं, क्योंकि उनका नियोक्ता असुरक्षित कामकाजी स्थितियों को सुधारने में असफल है. ACTU के सहायक सचिव लियाम ओब्रायन ने Fairfax Media को सोमवार को बताया कि चोट लगने या मानसिक स्वास्थ्य खराब होने की घटनाओं से ‘पूरी तरह से बचा जा सकता’ था.

उन्होंने कहा, “काम पर किसी को तकलीफ नहीं होनी चाहिए – चाहे वह मानसिक रूप से हो या शारीरिक रूप से हो.” उन्होंने आगे कहा, “Work Clean Heart Survey से पता चलता है कि बहुत सारे कामकाजी लोग काम पर हिंसा, प्रताड़ना और खराब कामकाजी स्थितियों का सामना कर रहे हैं जबकि इसमें से ज्यादातर को रोका जा सकता है.”

इसे भी पढ़िए :  झारखंड चुनाव: सिसई में बूथ पर पुलिस फायरिंग में 1 की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 + 3 =