शाम 6 बजे स्‍पीकर के सामने पेश हों बागी विधायक, स्‍पीकर आज ही इस्‍तीफे पर लें फैसला: सुप्रीम कोर्ट

15
loading...

नई दिल्‍ली, 11 जुलाई।    कर्नाटक के 10 बागी विधायकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने इनको निर्देश दिया है कि अपने इस्‍तीफे के निर्णय संबंधी सूचना को गुरुवार शाम 6 बजे तक स्‍पीकर के समक्ष पेश होकर बताएं. इसके साथ ही स्‍पीकर को निर्देश दिया है कि उसके बाद वह आज ही इस्‍तीफे पर फैसला लें. कल Supreme court में स्पीकर के आदेश की कॉपी पेश की जाएगी. शुक्रवार को ही इस मामले की अगली सुनवाई होगी. Supreme court ने कर्नाटक के डीजीपी से बागी विधायकों को सुरक्षा देने को कहा है.

इस तरह Supreme court के निर्णय से सत्‍तारूढ़ Congress-JDS गठबंधन सरकार को बड़ा झटका लगा है. वहीं दूसरी तरफ बागी विधायकों को बड़ी राहत मिली है. बताते चलें की याचिकाकर्ताओं ने दलील दी थी कि मुख्यमंत्री अल्पमत में हैं और विश्वास मत हासिल करने से इनकार कर रहे हैं. याचिकाकर्ताओं ने संविधान में प्रदत्त लोकतांत्रिक सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपने असाधारण अधिकार को क्रियान्वित करने की मांग की. याचिकाकर्ताओं का कहना है, “विधायिका का कोई भी निर्वाचित सदस्य अपनी अंतरात्मा की आवाज या अन्य जरूरी परिस्थितियों के आधार पर अपनी सदस्यता से इस्तीफा देने का हकदार है.”

इसे भी पढ़िए :  शीतकालीन सत्र के लिए केंद्र सरकार का टारगेट, कई अहम बिलों को कराना है पास

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता और कैबिनेट मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जो भी जो भी Supreme court में हुआ वो एक कानूनी प्रक्रिया है. इसके साथ ही गोवा और कर्नाटक में कांग्रेस के BJP पर Horse Trading के आरोपों पर बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि congress का पिछले 40 दिन से कोई राष्ट्रीय अध्यक्ष नहीं है. ऐसे में इन सबके पीछे जिम्मेदार BJP कैसे हो सकती है. Congress के विधायकों को लगता है कि पार्टी में दिवालियापन है इसलिये कांग्रेस के नेता BJP ज्वाइन कर रहे हैं.

इसे भी पढ़िए :  गंभीर खाते रहे जलेबी नहीं पहुंचे प्रदूषण का समाधान खोजने

इन मामलों में केंद्र सरकार या भाजपा कुछ नहीं कर रही है. इन लोगों से अपनी पार्टी नहीं संभल रही है तो इसमे BJP क्या करे. कांग्रेस को अपनी स्थिति पर आत्म चिंतन करना चाहिये. कांग्रेस अपनी दुर्दशा के लिए खुद ज़िम्मेदार है. कांग्रेस के आरोपों की हम निंदा करते हैं.

इसे भी पढ़िए :  संसद के शीतकालीन सत्र से पहले सर्वदलीय बैठक में शिवसेना सांसद भी पहुंचे

कर्नाटक मुद्दे पर कांग्रेस ने राज्‍यसभा में हंगामा करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया. गोवा और कर्नाटक मामले पर गुरुवार को कांग्रेस ने संसद में प्रदर्शन भी किया. सोनिया गांधी और राहुल गांधी की मौजूदगी में कांग्रेस नेताओं ने संसद स्थित महात्‍मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया. इस दौरान उनके हाथ में ‘लोकतंत्र बचाओ’ लिखी तख्तियां भी थीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 11 =