आईना कि मांग केन्द्र सरकार न्यूज प्रिंट पर लगाई गई 10 प्रतिशत कि डयूटी ले वापस, रवि कुमार बिश्नोई कि मांग मीडिया का उत्पीड़न हो बन्द

31
loading...

नई दिल्ली 7 जुलाई। केन्द्रीय वित्त मंत्री निमर्ला सीतारमण द्वारा पेश किये गये बजट को लेकर सत्ता पक्ष तारीफो के पुल बांध रहा है तो विपक्ष उसके नकरात्मक पहलू ढुढ अलोचना करने का कोई मौका नही छोड़ रहा है। इस बजट से देश के मीडिया से जुड़े लोगो को बड़ी उम्मीद थी जिस पर वित मंत्री कि घोषणा ने पूरी तौर पर पानी फेर दिया। चुनाव के बाद माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा सबको साथ लेकर चलने कि बात कही गई थी उससे मीडिया जगत को भी बड़ी उम्मीद थी की पूर्व में जो उत्पीड़न हुआ है उसकी भरपाई इस बार हो जाएगी । जब वित्त मंत्री द्वारा ब्रीफकेस के स्थान पर लाल कपड़े में बांधकर बजट लाया गया। और पाता चला की उनका बही खाते वाला बैग मुम्बई के सिद्धि विनायक तथा महालक्ष्मी मन्दिर में गया तो और भी उम्मीद बन्धी कि इसमें सबका ध्यान रखा गया होगा। लेकिन ऐसा बजट घोषित होने में हुआ नही क्योकि छुट कि बजाए न्यूज प्रिंट पर 10 प्रतिशत कस्टम डयूटी और लगा दी गई। आॅल इण्डिया न्यूज पेपर एसोसिएशन आईना और उसके सदस्यो ने तो सरकार विरोधी है और नही बजट के बारे में कुछ विशेष कहना चाहते है।आईना के सदस्यो कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी और केन्द्रीय वित्तीय मंत्री निर्मला सीतारमण जी से स्पष्ट मांग है। की अखबारी कागज पर लगाई गई डयूटी वापस ली जाए।और पिछले वित्त मंत्री ने जो आर्थिक उत्पीड़न का सिलसिला शुरू किया था। उस पर रोक लगाई जाए।क्योकि सरकार के फैसलो ने मीडिया को आर्थिक रूप से कामजोर तथा मानिसक रूप से परेशान व समाजिक रूप से काफी नुकसान पहुचाया है।इन तथ्यो को ध्यान में रखते हुए तथा मीडिया कि भूमिका स्पष्ट और प्रदर्शित बनी रहे इस हेतु अखबारी कागज पर लगाई गई 10 प्रतिशत डयूटी सरकार
वापस ले और मीडिया कर्मियो का चाहे वो किसी भी क्षेत्र में या किसी भी रूप में सक्रिय हो उनका उत्पीड़न हर प्रकार से
बन्द किया जाए।यदि जनता और सरकार तथा मीडिया तीनो के हित में होगा ।– रवि कुमार बिश्नोई

इसे भी पढ़िए :  घोड़ी पर बारात निकालने सहित शादियों में यह प्रतिबंद्ध देशभर में हो लागु

संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =