5645 इलेक्ट्रिक बसें जल्द देश के 65 शहरों में दौड़ेंगी, सभी बसें मेड इन इंडिया होंगी

25
loading...

नई दिल्ली 30 जुलाई (रा.स.)। नीति आयोग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत ने गत सोमवार को कहा कि अंतर-मंत्रालयी समिति ने 65 शहरों में परिचालन के लिए 5,645 इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी है।पिछले सप्ताह वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता वाली जीएसटी परिषद ने ई-वाहनों पर कर की दर 12 प्रतिशत से घटाकर 5 प्रतिशत कर दिया।

यह कटौती एक अगस्त से प्रभाव में आएगी। कांत ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘इलेक्ट्रिक वाहनों पर अंतर-मंत्रालयी समिति ने 65 शहरों के भीतर और शहरों के बीच बसें चलाने के लिए आठ राज्य परिवहन निगमों के लिए कुल 5,645 इलेक्ट्रिक बसों को मंजूरी दी है। इससे वाहन क्षेत्र, शहरों की साफ-सफाई तथ मेक इन इंडिया पहल को गति मिलेगी’केंद्र पर्यावरण अनुकूल इलेक्ट्रिक वाहनों को लोकप्रिय बनाने के लिए कदम उठा रहा है।

वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को लेकर लिए गए कर्ज पर 1.5 लाख रपए तक के ब्याज पर अतिरिक्त आयकर छूट देने का प्रस्ताव किया है।इसके अलावा इलेक्ट्रिक वाहनों के कुछ कलपुजरें पर सीमा शुल्क से छूट दी गई है। केंद्र ने हाल में इलेक्ट्रिक वाहनों और उससे जुड़े बुनियादी ढांचे को प्रोत्साहन करने की योजना फेम-दो के तहत 10,000 करोड़ रपए की मंजूरी दी है।

इसे भी पढ़िए :  झारखंड चुनाव: सिसई में बूथ पर पुलिस फायरिंग में 1 की मौत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 14 =