बिहार में दिमागी बुखार का कहर, नौ और बच्चों की मौत के बाद 63 पहुंचा आंकड़ा

14
loading...

पटना / मुजफ्फरपुर। बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में दिमागी बुखार की चपेट में आने से शुक्रवार को नौ और बच्चों की मौत के साथ ही इस महीने अब तक 63 बच्चों की मौत हो चुकी है। अधिकारियों के मुताबिक ये मौतें Hypoglycemia की वजह से हुई हैं। उन्होंने बताया कि सभी बच्चे Hypoglycemia के शिकार हुए हैं, यह ऐसी स्थिति है जिसमें ब्लड शुगर का स्तर बहुत घट जाता है और इलेक्ट्रोलाइट असंतुलित हो जाते हैं।

इसे भी पढ़िए :  अब हाथ पर हाथ रखकर नहीं बैठा जा सकता

मुजफ्फरपुर के दो सरकारी अस्पतालों में 63 बच्चों की मौत हुई जिनमें से एक अस्पताल का स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने दिन में दौरा किया था।जिला प्रशासन की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक शुक्रवार को शाम छह बजे तक Shri Krishna Medical College Hospital (SKMCH) में छह बच्चों और केजरीवाल अस्पताल में तीन बच्चों की मौत हो गई थी।

इसे भी पढ़िए :  लोकतंत्र के मामले में 10वें स्थान से खिसककर 51वें पायदान पर देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था का पहुंचना

विज्ञप्ति के मुताबिक एसकेएमसीएच में जिन नौ बच्चों का इलाज चल रहा है उनकी हालत गंभीर है। साथ ही बताया गया कि केजरीवाल अस्पताल में पांच बच्चों की हालत नाजुक है। स्वास्थ्य मंत्री ने चिकित्सकों एवं अधिकारियों के साथ बैठक के बाद कहा कि शुक्रवार से छह और एंबुलेंस उपलब्ध कराई जाएंगी और 100 बेड वाले नये वार्ड का संचालन जल्द ही शुरू किया जाएगा। पांडे ने कहा कि बीमारी को रोकने के लिए लोगों में जागरुकता फैलाने की जरूरत है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही संबंधित अधिकारियों को प्रभावित जिलों में बचाव कार्य का निर्देश दे चुके हैं।

इसे भी पढ़िए :  काॅलेजों में दी जाएगी सोशल मीडिया की जानकारी; सोशल मीडिया की आलोचना करने वालों के लिए है यह तमाचा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − five =