दुष्कर्म और बलात्कार के मामलों में कार्यवाही करने में देर क्यो लगाते है थानेदार

22
loading...

प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और उच्च पुलिस अधिकारी दे ध्यान

हवस के वैहशी दरिंदों की शिकार बच्चियों को न्याय दिलाने और माता बहनों को इनके अत्याचार से बचाने के लिए केन्द्र और प्रदेश की सरकारों द्वारा काफी प्रयास किये जा रहे है माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी सहित प्रदेशों के मुख्यमंत्री व केन्द्रीय गृह मंत्री आदि के साथ ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी इस संदर्भ में काफी प्रयास कर रहे है मगर ताज्जुब इस बात का है की इस सब के बावजूद भी दुष्कर्म और बलात्कार की घटनाएं कम होने की बजाय बढ़ती ही जा रही है पिछले दिनों माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केन्द्रीय गृहमंत्री द्वारा ऐसे मामलों में तत्वरहित कार्यवाही करने और दोषियों को सजा देने के स्पष्ट निर्देश दिये गये थे तो ऐसी घटनाओं को रोकने और इन्हे अंजाम देने वालों को सोचने के लिए मजबूर करने हेतु कई सख्त नियम भी बनाये गये लेकिन ग्रामीण कहावत ज्यो ज्यो दवा की मर्ज बढ़ता ही गया के समान यह घटनाएं है की कम होने की बजाय बढ़ती ही जा रही है।
उप्र के पुलिस महानिद्रेशक श्री ओपी सिंह द्वारा बीती 17 जून को बागपत में कहा गया की यूपी पुलिस महिला सुरक्षा के प्रति गंभीर है मुख्यमंत्री जी महिलाओं की सुरक्षा के लिए चितिंत है प्रदेश में 2-2 जोन पर एक सीनियर महिला अधिकारी की तैनाती की जायेगी ओर यह सब अलीगढ़ में बच्ची के साथ हुई घटना के बाद किया गया है। प्रदेश में महिलाओं के साथ होने वाले जघन्य अपराध व छेड़छाड़ के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये है। सवाल यह उठता है की हर स्तर पर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सब चितिंत है उसके बावजूद इनसे संबध अपराध बलात्कार और दुष्कर्म व छेड़छाड़ की घटनाएं कम नही हो रही है।
उदाहरण के रूप में हापुड़ पुलिस की इस लापरवाही को देखा जा सकता है की यहां की निवासी एक महिला द्वारा अपने साथ 16 लोगो के द्वारा किये गये दुष्कर्म के दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही के लिए बाबु ओर थाने की पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही ना किये जाने पर एडीजी जोन के यहां गुहार लगायी गयी। तो बदायू में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिला द्वारा दाता गंज कोतवाली पुलिस द्वारा शिकायत किये जाने पर भी कार्यवाही ना होने से 4 पृष्ठ का सुसाईट नोट लिखकर खुदकुशी कर ली गयी।
तो दूसरी ओर गजरौला पुलिस के कार्यक्षेत्र में एक 60 साल के अधेड़ द्वारा 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म किये जाने के मामले में कई दिनों तक समझौता कराने के प्रयास किये जाते रहे दोषी के खिलाफ जब इस मामले में सफलता नही मिली तो बताते है की मजबूरी में पुलिस ने कार्यवाही शुरू की मेरठ के थाना रोहटा के ग्राम किनौनी निवासी मांगे राम पुत्र जैनपाल द्वारा गत दिवस 17 जून को तीसरी बार एसएसपी के यहां लिखित शिकायत कर अपनी 14 साल की बहन के साथ दुष्कर्म करने वालें नामजद आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए मामले के विवेचक थाना प्रभारी पर आरोप लगाया गया की उनके द्वारा दोषियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की जा रही। जबकि दुष्कर्मी उनकी बहन को जान से मारने की धमकी दे रहे है। बताते चले की इससे पूर्व गजरौला अमरोहा, रामपुर व मेरठ के ही हस्तिनापुर में घटी ऐसी घटनाओं पर काफी गंभीर कदम उठाये जा चुके है।
आखिर प्रधानमंत्री जी मुख्यमंत्री जी, केन्द्रीय ग्रहमंत्री जी सहित पुलिस के बढ़े अधिकारियों द्वारा महिलाओं के साथ होने वाले बालात्कार, दुष्कर्म ओर छेड़छाड़ की घटनाओं में दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही करने के निदेश दिये जाने के बावजूद आखिर जो मामले सामने नजर आते है उनमें भी थाना पुलिस ओर थानेदार कार्यवाही समय अनुकूल जांच कर जल्द से जल्द क्यो नही करते यह विषय सोचनीय और विचारणीय हैं क्योकि जहां तक चर्चा होती है हमारे पुलिस के कुछ जांबाज तो झूठे मामलों में भी तुरंत आरोपी को जेल भेजने के लिए कृत संकल्प बताये जाते रहते है तो फिर इतने गंभीर मामलों में लापरवाही क्यो?यह विषय जांच का है और इसमें कोई कोताही ना करते हुए उच्च अधिकारियों को बदायू की दुष्कर्म पीड़ित महिला द्वारा की गयी आत्महत्या और पूर्व में हस्तिनापुर में ऐसे प्रकरण को लेकर पीड़ित परिवार द्वारा लिये गये निर्णय की पुनरावर्ति ना हो इस हेतु ऐसे मामलों में लापरवाही करने वाले थानेदारों के विरूद्ध हो तुरंत कार्यवाही।

इसे भी पढ़िए :  गुजरात के सीएम के लिए क्यों खरीदा जा रहा 191 करोड़ रुपये का विमान

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 4 =