पिता के अंतिम संस्कार से ज्यादा जरूरी समझा देश के लिए खेलना, फाइनल जीतकर लौटी तो मां ने लगाया गले

5
loading...

नई दिल्ली: Indian Hockey Team की 19 साल की खिलाड़ी Lalremsiami Social Media पर खूब Trending हो रही हैं. मिजोरम की इस खिलाड़ी ने हिरोशिमा में FIH Women’s Series Finals को खेलने का निश्चय ऐसे समय में किया जब उनके पिता का देहांत हो गया. वह अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो पाईं. भारत ने पहले 4-2 से चिली को हराया. फिर Final में जापान को 3-1 से मात दी. पिता के अंतिम संस्कार में शामिल ना होकर लालरेमसियामी का Final खेलने का फैसला एक मिसाल बन गया. लालरेमसियामी मंगलवार को जब अपने घर पहुंची तो वहां का माहौल बहुत इमोशनल था. लालरेमसियामी के पिता की मौत Friday को Heart attack से हो गई थी. ऐसे कठिन समय में भी लालरेमसियामी टीम को छोड़कर वापस घर नहीं गईं.

इसे भी पढ़िए :  Apple वॉच ने डूबते शख्स की बचाई जान, जानें कैसे हुआ यह कमाल

भारतीय टीम की कैप्टन रानी रामपाल ने मैच की जीत को लालरेमसियामी के पिता को समर्पित किया. लालरेमसियामी मंगलवार को जब अपने घर पहुंची तो वह खुद को रोक न सकीं और अपनी मां के गले लगकर रो पdड़ीं. Mizoram Government के अधिकारी और उनके पूरे गांव के लोग वहां मौजूद थे.

इसे भी पढ़िए :  UP के मदरसों में अब बच्चे पढ़ेंगे NCERT की किताबें, लगेंगे NCC, स्काउट गाइड शिविर

लालरेमसियामी को उनके साथियों द्वारा सियामी नाम से पुकारा जाता है. लालरेमसियामी के खेल के प्रति जुनून को देखते हुए केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने Twitter पर लालरेमसियामी के पिता के निधन की बात शेयर की. उन्होंने लिखा, ‘भारतीय महिला हॉकी खिलाड़ी लालरेमसियामी के पिता का निधन हो गया. इस समय भारत, हिरोशिमा में सेमीफाइनल खेल रहा था. उन्होंने (लालरेमसियामी) अपने कोच से कहा, ‘मैं अपने पिता को गर्व महसूस करवाना चाहती हू. मैं खेलना चाहती हूं और भारत को Qualify करवाना चाहती हूं.’

इसे भी पढ़िए :  मॉनसून में कुदरत का जादू देखना है तो ज़रूर जाएं मेघालय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − six =