जेल से बाहर आने पर बोले आकाश, बल्ले से मारने का अफसोस नहीं….

33
loading...

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में नगर निगम अधिकारी को बल्ले से पिटाई करने के आरोप में जेले भेजे गए विधायक आकाश विजयवर्गीय जमानत पर रिहा हो गए है। आकाश के जेल से बाहर आते ही समर्थकों ने फूल-माला पहनाकर उनका जोरदार स्वागत किया। जेल से बाहर आने पर आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि जेल में अच्छा समय बीता।

उन्होंने कहा कि मैंने जो किया, उसका मुझको कोई दुख नहीं है। हालांकि अब गांधी के रास्ते पर चलना है, लेकिन मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वो दोबारा बल्लेबाजी करने का अवसर न दें।बता दें कि आकाश भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं। शहर के गंजी कम्पाउंड क्षेत्र में एक जर्जर भवन ढहाने की मुहिम के विरोध के दौरान बुधवार को बड़े विवाद के बाद भाजपा विधायक ने नगर निगम के एक अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से पीट दिया था।

कैमरे में कैद पिटाई कांड में गिरफ्तारी के बाद विजयवर्गीय को बुधवार को एक स्थानीय अदालत के सामने पेश किया गया था। अदालत ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद भाजपा विधायक की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। इसके साथ ही, उन्हें 11 जुलाई तक न्यायिक हिरासत के तहत जिला जेल भेज दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen + 17 =