PM मोदी की नई कैबिनेट की बैठक आज, विभागों के बंटवारे को लेकर संशय बरकरार

44
loading...

नई दिल्ली: Narendra Modi ने प्रचंड बहुमत से जीत हासिल करने के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. 57 मंत्रियों ने भी उनके साथ ही शपथ ली. अगले दिन अब शुक्रवार की शाम को इस नई कैबिनेट की पहली मीटिंग होगी. कैबिनेट की मीटिंग आज शाम करीब साढ़े पांच बजे से साउथ ब्लॉक में होगी. इसमें संसद का सत्र आहूत करने की संभावित तारीख तय की जा सकती है. हालांकि विभागों की बंटवारे को लेकर अभी भी संशय बरकरार है. लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाई जानी है. प्रधानमंत्री आने वाले दिनों में विभिन्न Cabinet समितियों जैसे सुरक्षा मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति, संसदीय मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति और राजनीतिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति पर भी निर्णय लेंगे.

17वीं लोकसभा के पहले सत्र की शुरुआत 6 जून से 15 जून के बीच होने की संभावना है. हालांकि अभी इसकी कोई तय तारीख नहीं घोषित की गई है. अमित शाह ने गुरुवार को पीएम मोदी संग शपथ ग्रहण किया. अब सवाल उठता है कि उनके बाद बीजेपी का अगला राष्ट्रीय अध्यक्ष कौन होगा? Media की खबरों की माने तो JP Nadda and Bhupendra Yadav अध्यक्ष पद की रेस में सबसे आगे हैं. फिलहाल यह जानकारी भी आने वाले एक-दो दिनों में साफ हो सकती है.

बता दें,Narendra Modi ने ऐतिहासिक जीत के बाद लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. राष्ट्रपति Ram Nath Kovind ने PM Modi को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. शपथ ग्रहण के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि मंत्रियों की नई टीम ‘‘युवा ऊर्जा एवं प्रशासनिक अनुभव” का मेल है और हम साथ मिलकर भारत की प्रगति के लिये काम करेंगे. पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा,‘आज शपथ लेने वाले सभी को बधाई. यह Team Energy से भरे युवाओं और प्रशासनिक अनुभव रखने वालों का मिश्रण है’. उन्होंने कहा कि इसमें ऐसे लोग हैं जो सांसद के रूप में उभर कर आए हैं और ऐसे भी हैं जिनका पहले शानदार पेशेवर कैरियर रहा है.

करीब दो घंटे चले शपथ ग्रहण समारोह में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की जीत के सूत्रधार रहे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और पूर्व विदेश सचिव एस जयशंकर आकर्षण का केंद्र रहे. खासकर जयशंकर को मंत्रिमंडल में शामिल कर और कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर प्रधानमंत्री मोदी ने सभी को चौंका दिया. जयशंकर भारतीय विदेश सेवा के दूसरे ऐसे अधिकारी हैं जिन्हें मोदी ने अपने मंत्रिमंडल में स्थान दिया है.

गौरतलब है कि Lok Sabha Election में प्रचंड जीत के बाद PM Modi Cabinet ने दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ लेने से पहले अपनी मंत्रिपरिषद को व्यवस्थित रूप देने के लिए BJP अध्यक्ष Amit Shah के साथ कई दौर की वार्ता की. पीएम मोदी के कैबिनेट में इस बार अनुभव के साथ ही युवा शक्ति पर भी जोर दिया गया है. पीएम मोदी और अमित शाह की बैठक के बाद संभावित मंत्रियों को फोन करके पीएम मोदी से मिलने के लिए बुलाया गया था.

प्रधानमंत्री PM Modi के शपथ ग्रहण समारोह में पश्चिम बंगाल से उन 54 कार्यकर्ताओं के परिजन भी शामिल हुए जिनकी हत्या पिछले कुछ सालों में राजनीतिक हिंसा के दौरान की गई है. बीजेपी की ओर से तैयार की गई सूची में हर कार्यकर्ता के नाम के साथ बताया है कि उनकी हत्या कहां और कैसे हुई? हालांकि बीजेपी के इसी कदम से नाराज होकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शपथ ग्रहण से आने से इनकार कर दिया था.

शपथ ग्रहण समारोह में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, उपराष्ट्रपति Venkaiah Naidu, Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal, Bihar Chief Minister Nitish Kumar, CJI Ranjan Gogoi, industrialist Gautam Adani, Mukesh Ambani, Nita Ambani, former Prime Minister Manmohan Singh, LK Advani, superstar Rajinikanth, Kailash Satyarthi, Karan Johar, BJP senior Leader Murli Manohar Joshi, Delhi’s Lt Governor Anil Baijal, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बीजेपी नेता उमा भारती सहित कई दिग्गज शामिल हुए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 20 =