मोदी जी हमें भूल ना जाना, हम भी है आपके

8
loading...

ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन व एसएमए की आग्रह,

17वीं लोकसभा के गठन उपरांत पूर्ण बहुमत से बनने वाली भाजपा की केन्द्र में सरकार के प्रधानमंत्री के रूप से दूसरी बार श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा शपथ लिया जाना तथा बताया जा रहा है पिछली सरकार के मुकाबलें सुनने को मिल रही खबरों और अन्य चर्चाओं से ऐसा लगता है की इस बार मोदी सरकार सबकों लेकर चलेगी क्योकि चुनाव जीतने के उपरांत खुद अपने सर्वप्रथम सम्बोधन में श्री नरेन्द्र मोदी जी ने कहा था की वो और उनके सहयोगी दुर्रभावना से काम नही करेगे सबकों साथ लेकर चलेगे। देश में दो ही जाति होगी गरीब और अमीर गरीबी को हम समाप्त करेगे ओर इसमें सहयोग करने वालों का करेगे सम्मान जो इस बात का प्रतीक कहा जा सकता है की वो सबकों साथ लेकर चलने और सबका विकास करने की सदभावनाओं के साथ कार्यभार सम्भालेगे।
माननीय मोदी जी आपकी पिछली सरकार में देशभर के गली मौहल्लों गांव देहातों से निकलने वाले लघु और भाषाई समाचार पत्र संचालकों का बढ़ा उत्पीड़न हुआ परिणाम स्वरूप देश में कितने ही पाक्षिक ओर साप्ताहिक व दैनिक समाचार पत्र सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग ब्यूरों आॅफ आउट रिच एडं कम्यूनिकेशन (डीएवीपी) के कुछ अधिकारियों द्वारा जो उत्पीड़न किया गया तथा लगाई गयी जीएसटी के चलते बंद हो गये।
माननीय मोदी जी क्योकि जितनी जीएसटी लगने लगी तथा विभाग के अधिकारियों के द्वारा उत्पीड़न के चलते जितने खर्चे समाचार पत्र संचालकों के अखबार प्रकाशन में बढ़ गये है उतने का भी विज्ञापन सरकार द्वारा समाचार पत्र संचालकों को नही दिया जाता।
मगर मोदी जी के वर्तमान रूख ओर सबके प्रति सदभावना को ध्यान में रखते हुए ऐसा लगता है की इस बार केन्द्र की सरकार में सूचना मंत्रालय और विभाग के अधिकारी समाचार पत्र संचालकों का उत्पीड़न शायद नही कर पायेगे।
मगर क्योकि यह भी सब जानते है की बिना मांगे तो मां भी बच्चे को दुध नही पिलाती है जब वो रोता है तभी उसे लगता है की यह भूखा है इसे दूध पिलाया जाये। इस तथ्य को दृष्टिगत रख आॅल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना के राष्ट्रीय अध्यक्ष रवि कुमार बिश्नोई व सोशल मीडिया एसोसिएशन (एसएमए) के राष्ट्रीय महामंत्री अंकित बिश्नोई की इस मांग से मै भी सहमत हुं की मोदी जी का ध्यान इस ओर मैसेज मेल, वाट्सऐप आदि से भेजकर यह आग्रह किया जाये की मोदी जी लघु और भाषाई समाचार पत्र संचालक भी इस देश के नागरिक है और समाज की बुराईयों को उजागर करने तथा अच्छाईयांें के साथ साथ सरकार की जनहित की योजनाओं की सूचना निस्वार्थ भाव से पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी जाती है तथा समय कोई भी रहा हो राष्ट्र के विकास और आम आदमी के हित में लोकतंत्र के चैथे स्तंभ का यह हिस्सा महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहा है।
मोदी जी हम इसलिए आपसे हम आग्रह करते है की पीएम साहब इस बार हम भी याद रखना आप हमें भूल ना जाना।

इसे भी पढ़िए :  क्या कियारा आडवाणी और सिद्धार्थ मल्होत्रा Relationships में हैं? शाहिद ने बयां किया सच

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − six =