केन्द्र में सत्ता और विपक्ष होगा मजूबत, अरूण जेटली को ना दिया जाये कोई मंत्रालय

44
loading...

वर्तमान लोकसभा चुनाव के लिए सातों चरणों का मतदान पूर्ण हो जाने के उपरांत अब 17वीं लोकसभा में किस दल के कितने सदस्य जीत के आयेगे इससे सबंध एग्जिट पोल आने शुरू हो गये है वैसे तो सबके अलग अलग दावे किये जो रहे है लेकिन एनडीए के सदस्य सबसे ज्यादा 270 से 380 ओर कांग्रेस के 72 से 135 सदस्यों तक का जीतकर आने की बात उभर कर सामने आयी है तो अन्य दलांे के 126 सदस्य जीतकर आने की बात हो रही है। लेकिन अगर आम आदमी के दृष्टिकोण से देखा जाये तो सरकार किसी की भी बने जो चुनाव परिणाम आने की सम्भावना है अगर वैसा ही होता है तो पक्ष ओर विपक्ष में से कोई भी निरकुंश नही हो पायेगा यह बात विश्वास के साथ कही जा सकती है। वैसे एग्जिट पोल हमेशा ही सही हो यह बात विश्वास से नही कही जा सकती लेकिन जो परिस्थितियां है उसकों देखकर अभी तक यह लगता है कि भाजपा सहयोगी दलों से मिलकर सरकार बना सकती है ओर कांग्रेस 150 के लगभग सीट लेकर मजबूत विपक्ष के रूप में सरकार के सामने खड़ी होगी। परिणामस्वरूप 2014 में बनी भाजपा सरकार ने जो कुछ मामलों में फैसले लेने के लिए निरंकुशता अपनायी थी वो अब अगले 5 साल तक सम्भव नही है क्योकि कांग्रेस और अन्य दलों के सांसदो की इतनी संख्या तो लोकसभा में होगी कि वो सत्ताधारी दल को जनविरोधी फैसले ना लेने दे।
वैसे मेरा मानना है कि नरेन्द्र मोदी जी एक अच्छे लीडर है पूर्व में भी एक अच्छे प्रधानमंत्री के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफल रहे शायद इसी का ही परिणाम है की उम्मीद के विरूद्ध भाजपा और उसके सहयोगी दलों के इतने सांसद जीतकर आ रहे है कि वो सरकार बना सके। मोदी जी ओर अमित शाह साहब पहले के मुकाबले सबकुछ होने के बावजूद आपके सांसदों की संख्या घटी है। आगे ऐसा ना हो इसके लिए जनहित में खासकर अरूण जेटली साहब को अगर मंत्री मंडल में ना लिया जाये तो अच्छा है और अगर लेना भी हो तो उन्हे किसी भी रूप में सूचना और वित मंत्रालय सहित ऐसा कोई मंत्रालय ना दिया जाये जिससे सरकार की नीतियां प्रभावित होती हो और आम आदमी की भावनांए आहत हो।

इसे भी पढ़िए :  जय हो गूगल बाबा की अब लोकल नही कोई अखबार

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 + 6 =