वाराणसी: सुबह 8 बजे पोस्टल बैलेट गिनने के बाद खुलेंगे EVM, तैयारियां पूरी

16
loading...

वाराणसी: उत्तर प्रदेश की सबसे High Profile और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय सीट वाराणसी का परिणाम के लिए मतगणना केंद्र में 23 मई को सुबह 8 बजे से वाराणसी लोकसभा की 5 विधानसभाओं में एक साथ कुल 70 टेबलो पर मतों की गिनती का काम शुरू होगा. इसके साथ ही चंदौली लोकसभा की दो विधानसभा और मछलीशहर लोकसभा की एक विधानसभा सीट की मतगणना पहाड़िया मंडी में किया जाएगा.

वाराणसी लोकसभा की पांच विधानसभाओं में क्रमवार 14 -14 Table गिनती के लिए लगाए गए हैं. जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह की मानें, तो इस बार मतगणना कराने के लिए 800 से अधिक कार्मिक टेबलों पर लगाए जा रहे है जबकि लगभग 400 कर्मचारी रिजर्व रखे गए हैं. मतगणना स्थल पर पेयजल, अग्निशमन दस्ता के साथ खानपान आदि व्यवस्था की जिम्मेदारी अलग- अलग एजेंसियों को सौंपी गई है.

इसे भी पढ़िए :  सेंसेक्स ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़कर रचा इतिहास, पहली बार 2284 अंक उछला

चंदौली, गाजीपुर के बाद पहड़िया मंडी में भी ईवीएम को उड़ी अफवाह और हंगामे के बाद प्रशासन विशेष सतर्कता बरत रहा है. यहां अतिरिक्त फोर्स भी लगा दी गई है. स्ट्रांग रूम तथा EVM की सुरक्षा जहां सीआईएसफ के जवानों के हवाले है. वहीं, बाहरी सुरक्षा घेरा पीएसी और पुलिसकर्मियों के जिम्मे है.

इसे भी पढ़िए :  सनी देओल और करिश्‍मा कपूर ने 1997 में खींची थी ट्रेन की चेन, कोर्ट ने तय किए आरोप

जिला निर्वाचन अधिकारी, सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि मतगणना वाले दिन यहां हजारों सशस्त्र जवान व्यवस्था संभालेंगे. पहड़िया मंडी के बाहर फोर्स के साथ यातायात पुलिस के जवान भी तैनात होंगे. मतगणना चलने तक आशापुर चौराहे से वाहनों का आवागमन रोक दिया जाएगा. पांडेपुर से पहड़िया की ओर आने वाले वाहन भी रोके जाएंगे. मतगणना स्थल पर बैरिकेडिंग का काम पहले से ही हो चुका है, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त के बाद भी कांग्रेस, सपा और बसपा के कार्यकर्ता मतगणना स्थल के बाहर पहरा दे रहे है.

पहड़िया मंडी के बाहर फोर्स के साथ यातायात पुलिस के जवान भी तैनात होंगे. मतगणना चलने तक आशापुर चौराहे से वाहनों का आवागमन रोक दिया जाएगा. पांडेपुर से पहड़िया की ओर आने वाले वाहन भी रोके जाएंगे. मतगणना स्थल पर बैरिकेडिंग का काम पहले से ही हो चुका है, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था के कड़े बंदोबस्त के बाद भी कांग्रेस,सपा और बसपा के कार्यकर्ता मतगणना स्थल के बाहर पहरा दे रहे है.

इसे भी पढ़िए :  देशभर में E-cigarettes and e-hookahs पर पूरी तरह प्रतिबंध, पहली बार पकड़े जाने पर 1 साल की सजा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + 16 =