Period अब समस्या नहीं, यह कंपनी देती है एक दिन की ‘Paid Leave’

10
loading...

नई दिल्ली: Egypt के एक कंपनी ने जो नया नियम बनाया है, उसकी चर्चा पूरे विश्व में हो रही है. अब कई देशों में सरकार से मांग की जा रही है कि वे इस नियम को सभी कंपनियों के लिए आवश्यक कर दे. Egypt की उस कंपनी ने अपने महिला कर्मचारियों के लिए जो नियम बनाया है, उसके मुताबिक उन्हें हर महीने एक दिन की Paid Leave इसलिए दी जाएगी, क्योंकि महिलाओं में Every Month Periods की समस्या होती है और इस दौरान उन्हें बहुत ज्यादा दर्द होता है. एक उम्र के बाद और एक उम्र तक हर महिला को इस समस्या से जूझना पड़ता है.

इसे भी पढ़िए :  आवारा पशुओं से निपटने के लिए गायों की जियो-टग्गिंग

ब्रिटेन में ‘menstrual leave’ की मांग
इस कदम की सराहना करते हुए ब्रिटेन की सरकार से इसको लेकर नियम बनाने की अपील की गई है. इजिप्ट की डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी, Shark and Shrimp में काम करने वाली महिला कर्मचारी को हर महीने इस छुट्टी के बदले कोई Medical Certificate देने की जरूरत नहीं होगी. महिला अपने मन से एक दिन का चुनाव कर सकती हैं.

नए नियम की जमकर वाहवाही
Shark and Shrimp की ह्यूमन रिसोर्स हेड रानिया युसूफ ने एक International Newspaper से कहा कि हमें अपने कर्मचारियों पर पूरा भरोसा है कि वे इस छूट का गलत फायदा नहीं उठाएंगे. वे अपने मन से एक दिन का चुनाव कर सकती हैं. उन्होंने यह भी कहा कि मिडिल ईस्ट और नॉर्थ अफ्रीकन देशों में पीरियड्स के बारे में खुलकर बातचीत नहीं की जाती है. ऐसे में जब हमने यह फैसला लिया तो हर कोई आश्चर्यकित थे.

इसे भी पढ़िए :  यह है आज के ट्रेडिंग हैंडबैग्स, स्टाइलिश दिखने के लिए इन्हें अपनाएं

कई देशों में लागू है ‘menstrual leave’
‘menstrual leave’ का कॉन्सेप्ट जापान, साउथ कोरिया, ताईवान, इंडोनेशिया जैसे देशों में पहले से है. यहां तक की भारत की भी कई कंपनियां पेड ‘मेंस्ट्रुएल लीव’ देती हैं. कई देशों में तो इस छुट्टी के दिन काम करने पर कंपनी ज्यादा पे करती है. 2015 में पहली बार जाम्बिया पहला अप्रीकन देश था जहां, ‘Menstrual leave’ की शुरुआत की गई थी.

इसे भी पढ़िए :  Vivo Z1 Pro के बाद Vivo S1 को लॉन्च करने की तैयारी, यह बॉलीवुड एक्टर होगी ब्रांड एंबेसडर

जापान में यह 1947 से लागू है जापान में ‘Menstrual Leave’
जापान में यह 1947 से लागू है. साउथ कोरिया ने इस छुट्टी की शुरुआत 2001 में की. हालांकि, अभी तक किसी भी यूरोपियन देशों में इसकी शुरुआत नहीं हुई है. Italy ने 2018 में इस Holiday को लागू करने का फैसला किया था, लेकिन विरोध के बाद यह संभव नहीं हो पाया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − two =