राष्ट्र और जनहित में बैक कर्मियों की छुट्टी ओर सुविधाओं पर लगे रोक

34
loading...

केन्द्र ओर प्रदेश की सरकारो उद्योग धंधों को बढ़ावा देने और बेरोजगारी समाप्त करने के भरपूर दावे किये जा रहे है और इसके लिए इनमें लगे नागरिकों को आर्थिक समस्याएं उत्पन्न ना हो इसलिए नयी नयी सुविधाओं की घोषणाएं भी की जा रही है जिसमें एक एटीएम भी प्रमुख है मगर देखने में आता है की जहां कुछ दिनों की बैकों की छुट्टी पड़ी नही भी एटीएम कुछ ही घंटों में खाली हो जाते है और उपभोग्ता अपने की पैेसे निकालने के लिए इधर उधर मारे मारे घुमते रहते है।
उपभोग्ता और वित मंत्रालय के अधिकारी इस बात से अनभिज्ञ नही होगे की बैंकों में आये दिन होने वाले अवकाश से उपभोग्ताओं के समक्ष कितनी समस्याएं आ रही है और उद्योग धंधे कितना प्रभावित हो रहे है।
उसके बावजूद बैंकों में काम करने वाले अधिकारी और कर्मचारियों को सुविधाएं और साधन उपलब्ध कराने हेतु हमारी सरकारें सब कुछ कर रही है।
कुछ वर्ष पूर्व बैकांे में 2 शनिवारों का माह में पूर्ण अवकाश घोषित किया गया। जिससे व्यापारियों को कठिनाई हुई लेकिन अब तो विभिन्न अवसरों पर कई कई दिन तक बैकों में छुट्टियां पड़ने लगी है। जिससे अगर ध्यान से देखा जाये तो इस दौरान व्यापारी व उद्योगपतियों के साथ साथ आम जनता को भी आर्थिक कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है इसके अलावा बैक कर्मचारी जब चाहे तब अपनी जायज और नाजायज मांगों को लेकर हड़ताल करने की घोषणा करते है या हड़ताल पर चले जाते है और अब तो स्थिति यह हो गयी है की इनकी की मांगे सुरशा के मुंह की भांति बढ़ती ही जा रही है अगर यह कहा जाये तो गलत नही होगा की यह जितनी तन्खवाह लेते है उसके मुकाबले सेवाएं कम सुविधाएं ज्यादा भोगते है।
मेरा मानना है की अब सरकार बैंक कर्मियों को छुट्टी और सुविधाएं देने की बजाय उनमे कटौती कर राष्ट्र और जनहित में आये दिन की छुट्यिों पर सख्ती के साथ प्रतिबंध लगाये तभी देश में उद्योग और व्यापार तथा लघु उद्यमी पनप सकते है। और सरकार का भी उद्योगो को बढ़ावा देने का सपना तभी पूरा होगा और आर्थिक समस्याओं का भी कुछ कुछ समाधान निकलेगा।

इसे भी पढ़िए :  मॉनसून में कुदरत का जादू देखना है तो ज़रूर जाएं मेघालय

– रवि कुमार बिश्नोई
संस्थापक – ऑल इंडिया न्यूज पेपर्स एसोसिएशन आईना
राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय समाज सेवी संगठन आरकेबी फांउडेशन के संस्थापक
सम्पादक दैनिक केसर खुशबू टाईम्स
आनलाईन न्यूज चैनल ताजाखबर.काॅम, मेरठरिपोर्ट.काॅम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 + four =