देशभर में 9 लाख किसानों में हुई मधुमेह की पुष्टि

7
loading...

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना के दूसरे चरण में 21 राज्यों में 17 हजार हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोले गए हैं जहां प्रारंभिक जांच में करीब नौ लाख किसानों में मधुमेह रोग की पुष्टि हुई है। जबकि 12 लाख किसान 0ऐसे भी मिले हैं, जिन्हें तनावग्रस्त पाया गया है। बदलती जीवनशैली के कारण बढ़े डायबिटीज जैसे रोग :केंद्रीय स्वास्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल का कहना है कि बदलते दौर में लोगों की जीवनशैली में तेजी से परिवर्तन आ रहा है, उसके कारण मधुमेह जैसे रोगों को बढ़ावा मिला है। Health and Wellness Center में नि:शुल्क जांच व उपचार के अलावा आयुष पद्धति की सुविधा भी उपलब्ध है।

आयुष चिकित्सा को बढ़ावा देने को खोले गए 12 हजार से अधिक वेलनेस सेंटर : केंद्रीय आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाईक के अनुसार, आयुष चिकित्सा को बढ़ावा देने के लिए नरेंद्र मोदी ने देश भर में साढ़े 12 हजार Health and Wellness Center आयुष मंत्रालय को सौंपे गए हैं, जहां आयुव्रेद के साथ होम्योपैथी और यूनानी जैसी चिकित्सा पद्घतियों से भी नि:शुल्क उपचार मिल सकेगा।

इसे भी पढ़िए :  गर्मियों के मौसम में बचना चाहते है बीमारियों से, तो आज से ही अपनाएं ये सिंपल टिप्स

सेंटरों में उपलब्ध कराई गई सीएसआईआर निर्मित दवा : मंत्रालय के अनुसार, मधुमेह के रोगियों को शुरुआत में ही लाभ देने के लिए सीएसआईआर निर्मित मधुमेह की दवा BGR-34 Health and Wellness Centers में उपलब्ध कराई गई है। भारतीय वैज्ञानिकों के गहन शोध के बाद तैयार बीजीआर-34 को लेकर बीएचयू, एम्स सहित जापान, कोरिया और अमेरिकी एजेंसियां भी इसके सफल परिणाम देख चुकी हैं। शुरुआती जांच के बाद इसका सेवन लाखों रोगियों में सकारात्मक परिणाम लेकर आया है।

इसे भी पढ़िए :  जरा सोचिये...अगर पूरी दुनिया में लोग वेजिटेरियन हो जाएं तो क्या होगा

2018 में देश भर में मिले 7 करोड़ डायबिटीज पीड़ित : आईसीएमआर- इंडिया डायबिटीज की एक रिसर्च भी सामने आई है, जिसके अनुसार साल 2018 में देश भर में मधुमेह से करीब 7 करोड़ 30 लाख लोग पीड़ित मिले हैं। रिसर्च में संभावना जताई गई है कि 2022 तक देश में मधुमेह मरीजों की संख्या 10 करोड़ पार होगी। दुनिया में ये आंकड़ा किसी भी देश में सबसे ज्यादा है। वहीं इंटरनेशनल डायबिटीज फेडरेशन की रिसर्च के अनुसार, भारत में 20 से 70 वर्ष की उम्र के बीच 6.5, 6.68 और 6.91 करोड़ मधुमेह के मरीज क्रमश: वर्ष 2013, 2014 और 2015 में सामने आ चुके हैं।

इसे भी पढ़िए :  फैटी लिवर होने का सबसे बड़ा कारण आया सामने, जानें डाक्टर्स की राय

देशभर में खोले जाने हैं डेढ़ लाख वेलनेस सेंटर : केंद्रीय स्वास्य मंत्रालय की सचिव प्रीति सूदन का कहना है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत डेढ़ लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर देश भर में खोले जाने हैं। इनमें से 17 हजार सेंटरों पर मधुमेह, हाइपरटेंशन, पांच तरह के कैंसर, दांत, आंख, कान, नाक, गला और त्वचा रोग से जुड़े उपचार की सुविधा ग्रामीणों को मिल रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen − one =