नासा को चांद के इर्द-गिर्द घूम रहे जल अणुओं का पता चला

9
loading...

वॉशिंगटन। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि उसके लूनर रिकांससेंस आर्बिटर ने चांद की दिन वाली सतह के इर्द-गिर्द चक्कर लगा रहे जल अणुओं का पता लगाया है। इससे चांद पर पानी की पहुंच के बारे में जानने में मदद मिल सकती है जो भविष्य के चंद्र मिशनों में मानव द्वारा इस्तेमाल किया जा सकता है।यह जानकारी जर्नल जियोफिजिकल रिसर्च लैटर्स में प्रकाशित हुई है।

इसे भी पढ़िए :  भारतवंशी वैज्ञानिक का सेना से 1.39 अरब रुपए का करार, विचारों से कंट्रोल होने वाला रोबोट बनाएंगे

गौरतलब है कि बीते एक दशक तक वैज्ञानिकों का मानना था कि चांद शुष्क है और अगर कही पानी है तो वह चांद के हमेशा रात में रहने वाले दूसरे हिस्से में ध्रुवों के निकट बने खड्डों में बर्फ के रूप में हो सकता है। नासा के एक बयान में कहा गया है कि हाल ही में, वैज्ञानिकों ने चांद की मिट्टी की सतह पर पानी के अणुओं की बेहद कम मौजूदगी का पता लगाया है।

इसे भी पढ़िए :  भारतवंशी वैज्ञानिक का सेना से 1.39 अरब रुपए का करार, विचारों से कंट्रोल होने वाला रोबोट बनाएंगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + 20 =